अंगवाकू  

अंगवाकू भारत के नागालैंड में बोली जाने वाली चीनी भाषा परिवार के असमी-बर्मी-उपवर्ग की पूर्वी शाखा की भाषाओं या बोलियों में से एक है।

  • चीनी भाषा परिवार के असमी-बर्मी-उपवर्ग की पूर्वी शाखा की भाषाओं या बोलियों में 'अंगवाकू', 'तम्ल्‌', 'बनपरा', 'मूतोनिआ', 'मोहोगिया', 'नमसंगिया', 'चांग', 'अस्सिरिंगिया', 'मोशांग', 'शांग्गे' आती हैं।
  • उपरोक्त भाषाओं या बोलियों के बोलने वालों की[1] संख्या अनुमानत: सात हज़ार है।
  • अंगवाकू को पूर्वी नागा भाषा भी कहते हैं।
  • इस भाषा को रोमन या नागरी लिपि में अभी लिखित रूप नहीं दिया जा सका है।[2]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. इसमें तम्ल्‌ बोलने वालों को भी शामिल किया जाता है।
  2. अंगवाकू (हिंदी) भारतखोज। अभिगमन तिथि: 11 जून, 2013।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=अंगवाकू&oldid=610050" से लिया गया