अंगारपर्ण  

अंगारपर्ण चित्ररथ नामक गंधर्व का एक अन्य नाम था। यह गंधर्वराज, कुबेर का मित्र था। इसकी पत्नी का नाम कुंभीनसी था। इसने पांडवों की यात्रा में विघ्न डालने का प्रयास किया तो अर्जुन ने इसे पकड़ लिया था। कुंभीनसी द्वारा युधिष्ठिर से प्रार्थना करने पर इसे छोड़ दिया गया तो इसने उस उपकार के बदले अर्जुन को चाक्षुसी विद्या सिखाई थी।



टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=अंगारपर्ण&oldid=295504" से लिया गया