अकतेश्वर  

अकतेश्वर नर्मदा नदी के उत्तर तट पर स्थित एक पौराणिक स्थान है।

  • कहा जाता है कि यह वही स्थान है जहां दक्षिण दिशा की ओर जाते हुए महर्षि अगस्त्य ने विंध्याचल को बढ़ने से रोक दिया था।
  • महाभारत वन पर्व[1] तथा अनेक पुराणों में इस कथा का उल्लेख है।
  • महर्षि अगस्त्य के नाम से एक प्राचीन शिवमंदिर भी यहां स्थित है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध


टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. महाभारत वन पर्व 104

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=अकतेश्वर&oldid=572866" से लिया गया