अन्तरराष्ट्रीय छात्र दिवस  

अन्तरराष्ट्रीय छात्र दिवस
अन्तरराष्ट्रीय छात्र दिवस
विवरण 'अन्तरराष्ट्रीय छात्र दिवस' चेकोस्लोवाकिया की राजधानी 'प्राग' में नाज़ियों द्वारा मार दिये गए छात्रों की याद में मनाया जाता है।
तिथि 17 नवम्बर'
अन्य जानकारी 'प्राग' (चेकोस्लोवाकिया) में छात्रों तथा शिक्षकों पर प्रदर्शन के दौरान नाज़ियों द्वारा गोलियाँ चलाये जाने के कारण एक छात्र की मौत हो गई। 1200 छात्रों को क़ैद करके यातनाएँ दी गईं और नौ छात्रों को फ़ाँसी की सज़ा मिली।

अन्तरराष्ट्रीय छात्र दिवस (अंग्रेज़ी: International Students Day) अथवा 'अन्तरराष्ट्रीय छात्र एकजुटता दिवस' प्रत्येक वर्ष '17 नवम्बर' को मनाया जाता है।

  • 28 अक्टूबर, 1939 को नाज़ी कब्जे वाले चेकोस्लोवाकिया की राजधानी 'प्राग' में वहाँ के छात्रों और शिक्षकों ने अपने देश की स्थापना की वर्षगाँठ के अवसर पर एक प्रदर्शन का आयोजन किया था।
  • नाज़ियों ने इस प्रदर्शन पर गोलियाँ चलाईं, जिसके परिणामस्वरूप मेडिकल फेकल्टी का एक छात्र, जिसका नाम 'जॉन ओपलेटल' था, मारा गया। उस छात्र के अंतिम संस्कार के समय भी एक विरोध प्रदर्शन किया गया। तब दर्जनों प्रदर्शनकारियों को गिरफ़्तार कर लिया गया था।[1]
  • बाद में 17 नवम्बर की सुबह नाज़ियों ने छात्रों के होस्टल को घेरकर 1200 से अधिक छात्रों को गिरफ़्तार किया और एक यातना शिविर में बंद कर दिया।
  • नाज़ियों द्वारा यातनाएँ देने के बाद नौ छात्रों को फ़ाँसी पर लटका दिया गया।
  • इस घटना के दो वर्ष बाद फ़ासिज़्म के ख़िलाफ़ लड़ाई लड़ने वाले छात्रों का लंदन में एक अन्तरराष्ट्रीय सम्मेलन बुलाया गया, जहाँ यह फैसला किया गया कि नाज़ियों द्वारा शहीद किए गए छात्रों की याद में आगे से प्रत्येक वर्ष '17 नवम्बर' को 'अन्तरराष्ट्रीय छात्र एकजुटता दिवस' मनाया जाएगा।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. आज अंतर्राष्ट्रीय छात्र दिवस है (हिन्दी) रेडियो रूस। अभिगमन तिथि: 16 नवम्बर, 1014।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=अन्तरराष्ट्रीय_छात्र_दिवस&oldid=613940" से लिया गया