अशुद्ध वाक्यों के शुद्ध वाक्य  

अशुद्ध वाक्य शुद्ध वाक्य
वचन-संबंधी अशुद्धियाँ
पाकिस्तान ने गोले और तोपों से आक्रमण किया। पाकिस्तान ने गोलों और तोपों से आक्रमण किया।
उसने अनेकों ग्रंथ लिखे। उसने अनेक ग्रंथ लिखे।
महाभारत अठारह दिनों तक चलता रहा। महाभारत अठारह दिन तक चलता रहा।
तेरी बात सुनते-सुनते कान पक गए। तेरी बातें सुनते-सुनते कान पक गए।
पेड़ों पर तोता बैठा है। पेड़ पर तोता बैठा है।
लिंग संबंधी अशुद्धियाँ
उसने संतोष का साँस ली। उसने संतोष की साँस ली।
सविता ने जोर से हँस दिया। सविता जोर से हँस दी।
मुझे बहुत आनंद आती है। मुझे बहुत आनंद आता है।
वह धीमी स्वर में बोला। वह धीमे स्वर में बोला।
राम और सीता वन को गई। राम और सीता वन को गए।
विभक्ति-संबंधी अशुद्धियाँ
मैं यह काम नहीं किया हूँ। मैंने यह काम नहीं किया है।
मैं पुस्तक को पढ़ता हूँ। मैं पुस्तक पढ़ता हूँ।
हमने इस विषय को विचार किया। हमने इस विषय पर विचार किया
आठ बजने को दस मिनट है। आठ बजने में दस मिनट है।
वह देर में सोकर उठता है। वह देर से सोकर उठता है।
संज्ञा संबंधी अशुद्धियाँ
मैं रविवार के दिन तुम्हारे घर आऊँगा। मैं रविवार को तुम्हारे घर आऊँगा।
कुत्ता रेंकता है। कुत्ता भौंकता है।
मुझे सफल होने की निराशा है। मुझे सफल होने की आशा नहीं है।
गले में ग़ुलामी की बेड़ियाँ पड़ गई। पैरों में ग़ुलामी की बेड़ियाँ पड़ गई।
सर्वनाम की अशुद्धियाँ
गीता आई और कहा। गीता आई और उसने कहा।
मैंने तेरे को कितना समझाया। मैंने तुझे कितना समझाया।
वह क्या जाने कि मैं कैसे जीवित हूँ। वह क्या जाने कि मैं कैसे जी रहा हूँ।
विशेषण-संबंधी अशुद्धियाँ
किसी और लड़के को बुलाओ। किसी दूसरे लड़के को बुलाओ।
सिंह बड़ा बीभत्स होता है। सिंह बड़ा भयानक होता है।
उसे भारी दु:ख हुआ। उसे बहुत दु:ख हुआ।
सब लोग अपना काम करो। सब लोग अपना-अपना काम करो।
क्रिया-संबंधी अशुद्धियाँ
क्या यह संभव हो सकता है ? क्या यह संभव है ?
मैं दर्शन देने आया था। मैं दर्शन करने आया था।
वह पढ़ना माँगता है। वह पढ़ना चाहता है।
बस तुम इतने रूठ उठे बस तुम इतने में रूठ गए।
तुम क्या काम करता है ? तुम क्या काम करते हो ?
मुहावरे-संबंधी अशुद्धियाँ
युग की माँग का यह बीड़ा कौन चबाता है। युग की माँग का यह बीड़ा कौन उठाता है।
वह श्याम पर बरस गया। वह श्याम पर बरस पड़ा।
उसकी अक्ल चक्कर खा गई। उसकी अक्ल चकरा गई।
उस पर घड़ों पानी गिर गया। उस पर घड़ों पानी पड़ गया।
क्रिया-विशेषण-संबंधी अशुद्धियाँ
वह लगभग दौड़ रहा था। वह दौड़ रहा था।
सारी रात भर मैं जागता रहा। मैं सारी रात जागता रहा।
तुम बड़ा आगे बढ़ गया। तुम बहुत आगे बढ़ गए।
इस पर्वतीय क्षेत्र में सर्वस्व शांति है। इस पर्वतीय क्षेत्र में सर्वत्र शांति है।



पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=अशुद्ध_वाक्यों_के_शुद्ध_वाक्य&oldid=546813" से लिया गया