आतापि  

Seealso.gifआतापि का उल्लेख इन लेखों में भी है: अगस्त्य, वातापि एवं इल्वल
  • इल्वल का ही दूसरा नाम आतापि था।
  • आतापि एक असुर था।
  • इसके भाई का नाम वातापि था।
  • वे दोनों ही ब्राह्मणों से घृणा करते थे और ब्राह्मणों की हत्या का उन्होंने संकल्प ले रखा था। दोनों मिलकर ऋषियों को दुःख देते थे और रहस्यपूर्ण ढंग से उन्हें मार भी डालते थे।

ध्यान देंअधिक जानकारी के लिए देखें:- इल्वल

टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=आतापि&oldid=212480" से लिया गया