इक्षुला  

'वेदस्मृता वेदवतीं त्रिदिवामिक्षुलां कृमिम्,
करीषिणीं चित्रवाहां च चित्रसेनां च निम्नगाम्।'[1]

  • महाभारत के इस उद्धरण में अन्य नदियों के साथ ही इक्षुला का भी उल्लेख है।
  • यह इक्षु या इक्षुमती हो सकती है।


टीका टिप्पणी और संदर्भ

  • ऐतिहासिक स्थानावली | पृष्ठ संख्या= 77-78| विजयेन्द्र कुमार माथुर | वैज्ञानिक तथा तकनीकी शब्दावली आयोग | मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=इक्षुला&oldid=627665" से लिया गया