इन्द्रध्वज उत्थानोत्सव  

  • भारत में धार्मिक व्रतों का सर्वव्यापी प्रचार रहा है। यह हिन्दू धर्म ग्रंथों में उल्लिखित हिन्दू धर्म का एक व्रत संस्कार है।
  • इन्द्रध्वज उत्थानोत्सव का वराह की बृहत्संहिता[1], कालिकापुराण[2], राजमार्तण्ड[3], हेमाद्रि व्रतखण्ड[4], तिथितत्त्व[5], वर्षक्रियाकौमुदी[6], कालविवेक[7], कृत्यरत्नाकर[8] में वर्णन किया गया है।
  • इन्द्रध्वज उत्थानोत्सव राजा के लिए व्यवस्थित है।[9]
  • इसने विष्णुधर्मोत्तर पुराण से बहुत से आशीर्वाद एवं प्रार्थना के मन्त्र उर्द्धत किए हैं।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. वराह की बृहत्संहिता अध्याय43
  2. कालिकापुराण 90
  3. राजमार्तण्ड 1260-1292
  4. हेमाद्रि व्रतखण्ड 2, 401-419
  5. तिथितत्त्व 115-117
  6. वर्षक्रियाकौमुदी322-323
  7. कालविवेक 294-299
  8. कृत्यरत्नाकर 292-293
  9. बुद्धचरित, (रघुवंश 4|3), (मृच्छकटिका 10|7); (कालिकापुराण 90) कृत्यकल्पतरु (राजधर्म, 184-190); (राजनीतिप्रकाश 421-423

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=इन्द्रध्वज_उत्थानोत्सव&oldid=188393" से लिया गया