एक्रेलिक रंग  

एक्रेलिक रंग (अंग्रेज़ी: Acrylic Colours) चित्रों के रंगने के काम आते हैं। रंगों की दुनिया में एक्रेलिक रंग नई खोज है।

  • एक्रेलिक रंग का सिद्धांत तैल रंग जैसा ही होता है। इसमें भी तैल की तरह गहरे से हल्के की तरफ़ रंग किया जाता है और इसका प्रभाव भी तैल रंगों की तरह ही होता है।
  • इन रंगों को लेंसिड तेल की जगह जल से घोला जाता है।
  • वर्तमान में रंगों की दुनिया में एक्रेलिक रंग बिल्कुल नई खोज है। इसलिए अधिकांश बड़े व नामी चित्रकार एक्रेलिक का ही प्रयोग कर रहे हैं।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=एक्रेलिक_रंग&oldid=613608" से लिया गया