कर्मदेव  

कर्मदेव देवताओं का एक गण, जिसमें तैंतीस देवता सम्मिलित हैं-अष्टवसु, एकादशरुद्र, द्वादशसूर्य तथा इन्द्र और प्रजापति

  • इनके राजा इन्द्र और आचार्य बृहस्पति हैं।
  • ये जन्म से ही देवता नहीं थे, बल्कि अग्निहोत्र आदिक वैदिक कर्म करके देवता हुए थे।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. ऐतरेय और बृहदारण्यक उपनिषद

संबंधित लेख

"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=कर्मदेव&oldid=430597" से लिया गया