कलकतिया हिन्दी  

  • यह हिन्दी कलकत्ते की है।
  • इसका मूल आधार तो मानक हिन्दी है किंतु स्वभावत: इस पर बँगला का प्रभाव काफ़ी है।
  • हिन्दी क्षेत्र के भोजपुर प्रदेश के काफ़ी लोग कलकत्ते में बस गए हैं, इसीलिए उनका भी प्रभाव इस पर है।
  • यह भी किसी की मातृबोली न होकर मात्र सामान्य बोलचाल की भाषा है।
  • कलकत्ते में बँगला के बाद इसी का प्रयोग सर्वाधिक होता है।
  • उपर्युक्त बोलियों की तरह ही भारत के अन्य बड़े नगरों जैसे अहमदाबाद, कटक आदि में भी उपर्युक्त प्रकार की स्थानीय प्रभावों से युक्त टूटी-फूटी हिन्दी बोली और समझी जाती है।



पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=कलकतिया_हिन्दी&oldid=226509" से लिया गया