किलिमंजारो पर्वत  

किलिमंजारो पर्वत
किलिमंजारो पर्वत
विवरण किलिमंजारो पर्वत पूर्वी अफ़्रीका के टंगान्यिका में मोंबासा पत्तन [1] है। इसकी प्रधान अक्ष रेखा पूर्व से पश्चिम की ओर फैली हुई है।
देश अफ़्रीका
क्षेत्र किलिमंजारो क्षेत्र, तंजानिया
ऊँचाई 6,500 से 9,500
अन्य जानकारी किलिमंजारों पर्वत पर पर्वत सुलभ पट्टियाँ मिलती हैं। लगभग 6,500 से 9,500 फुट ऊँचाई तक वनप्रांत फैला हुआ है, जिसके ऊपर 12,700 फुट तक फूलों वाले उच्च पर्वतीय पौधे उगते हैं।

किलिमंजारो पर्वत पूर्वी अफ़्रीका के टंगान्यिका में मोंबासा पत्तन [2] है। इसकी प्रधान अक्ष रेखा पूर्व से पश्चिम की ओर फैली हुई है। इस पर्वतांचल में एक दूसरे से सात मील के अंतर पर स्थित दो ऊँचे शिखर हैं। पश्चिम में स्थित 'किबो' (19,321 फुट) तथा पूर्व में स्थित 'मावेंजी' (16,892 फुट) है।[3]

  • किबो अफ़्रीका के ज्ञात शिखरों में सर्वोच्च है। इस शिखर की लाबा चट्टानों से निर्मित ढालों पर लगभग 200 फुट तक किम की श्वेत पट्टी पड़ी हुई है, जिसमें से कहीं-कही नालों के द्वारा हिमानियाँ प्रवाहित होती हैं।
  • किलिमंजारों पर्वत पर पर्वत सुलभ पट्टियाँ मिलती हैं।
  • लगभग 6,500 से 9,500 फुट ऊँचाई तक वनप्रांत फैला हुआ है, जिसके ऊपर 12,700 फुट तक फूलों वाले उच्च पर्वतीय पौधे उगते हैं।
  • दक्षिणी ढालों पर 4,000 और 6,000 फुट के मध्य घना बसा हुआ चांगा का क्षेत्र स्थित है, जिसमें कहवा, मक्का तथा केला उगाया जाता है।
  • जोहैनीज रेबमैन नामक धर्म प्रचारक ने 1848 ई. में किलिमंजारो पर्वत का पता लगाया था।
  • सन 1889 में डॉक्टर हांस मेयर ने इस पर चढ़ने का सफल अभियान किया।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

वीथिका

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. स्थिति 3.5 द. अक्षांश तथा 37.23 पू. देशांतर
  2. स्थिति 3.5 द. अक्षांश तथा 37.23 पू. देशांतर
  3. किलिमंजारो पर्वत (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 12 फ़रवरी, 2014।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=किलिमंजारो_पर्वत&oldid=609826" से लिया गया