कुररी  

कुररी (अंग्रेज़ी: Tern) पक्षियों के 'वीचीकाक वंश' (लैरिडी: Laridae) के प्रसिद्ध पक्षी हैं। ये पक्षी सामुद्रिक गंगाचिल्ली से कद में छोटे होकर भी उसी के निकट संबंधी हैं। ये पानी के निकट रहने वाले स्लेटी रंग के पक्षी हैं।[1]

  • कुररी के पैर छोटे और जालपाद युक्त होते हैं, चोंच बड़ी और तीक्ष्ण तथा डैने नुकीले होते हैं।
  • इन पक्षियों का माथा और सिर गर्मियों में काले रंग के हो जाते हैं, मानो इन्होंने काले मखमल की टोपी पहन रखी हो।
  • इस पक्षी की कई जातियाँ विश्व में पाई जाती हैं, किंतु उनके स्वभाव में अधिक भेद नहीं होता।
  • कुररी लगभग एक फुट की लम्बाई वाली चिड़िया है, जो पानी के किनारे झुँड में रहती है।
  • इस पक्षी का मुख्य भोजन मछली है, जिसकी तलाश में यह पानी की सतह से चोंच मिलाकर उड़ती रहती है।
  • सैकड़ों कुररियाँ एक साथ रेत में अंडे देती हैं। यदि कोई इनके निकट चला जाए तो ये बहुत जोर-जोर से शोर मचाती हैं।


इन्हें भी देखें: मोर, कबूतर, मैना, चील एवं पहाड़ी मैना


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. कुररी (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 27 मार्च, 2014।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=कुररी&oldid=609771" से लिया गया