कोयल  

भारतीय कोयल

कोयल (अंग्रेजी:Cuckoo) या कोकिल कुक्कू कुल का सुप्रसिद्ध पक्षी है और इसे कोकिल के नाम से भी जाना जाता है। कोयल मीठी बोली बोलने वाली भारतीय पक्षियों में इसका विशेष स्थान है।

मुख्य बिन्दु

  • कोयल का नर कौआ जैसा गहरा काला और मादा भूरी चितली होती है।
  • कोयल सर्वथा भारतीय पक्षी है; यह इस देश के बाहर नहीं जाती, थोड़ा बहुत स्थानपरिवर्तन करके यहीं रहती है।
  • कोयल 'कुक्कू कुल' कुल का सुप्रसिद्ध पक्षी है।
  • कोयल कीट लार्वा कीड़ों पर फ़ीड और फल को अपना भोजन बनाती है।
  • नर कोयल ही गाता है।
  • कोयल की आंखें लाल व पंख पीछे की ओर लंबे होते हैं।
  • कोयल अपने अंडे दूसरे पक्षियों विशेषकर कौओं के घोंसले में रख देती हैं।
  • कोयल स्वभाव से संकोची होती हैं। इस वजह से इनका प्रिय आवास या तो आम के पेड़ हैं या फिर मौलश्री के पेड़ अथवा कुछ इसी तरह के सदाबहार घने वृक्ष, जिसमें ये अपने आपको छिपाए हुए तान छेड़ता है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=कोयल&oldid=322312" से लिया गया