झूले  

हरियाली तीज
Hariyali Teej

ब्रज में श्रावण–भादों के दिनों मन्दिरों में झूलों की धूम रहती है । रासलीलाओं के विराट आयोजन होते हैं, जहां लाखों श्रद्धालु दर्शन को आते हैं । द्वारकाधीश के मन्दिर में घटायें सजती हैं । श्रीबिहारी जी के मन्दिर में केवल हरियाली तीज को झूला पड़ता है, जहां भारी भीड़ होती है । मन्दिरों के अलावा पूरे ब्रज के गांव–गांव, गली–गली में झूले पड़ते हैं और मल्हारों गायन के साथ ब्रज बालिकायें झूला झूलती हैं ।

वीथिका

संबंधित लेख

"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=झूले&oldid=171963" से लिया गया