ठक्कर बापा राष्ट्रीय सम्मान  

ठक्कर बापा राष्ट्रीय सम्मान मध्य प्रदेश शासन द्वारा ग़रीब, पीड़ित और पिछड़े आदिवासी समुदाय की ममतापूर्ण सेवा एवं सुदीर्घ साधाना के लिए व्यक्ति अथवा संस्था को दिया जाता है। इस राष्ट्रीय सम्मान के अन्तर्गत रुपये 2 लाख की सम्मान निधि एवं प्रशस्ति पट्टिका प्रदान की जाती है। यह सम्मान किसी एक कृति या उपलब्धि के लिए न होकर सुदीर्घ साधना एवं उपलब्धि के लिए दिया जाता है।

यह सम्मान अब तक निम्न लोगों को दिया जा चुका है-

  1. वर्ष 2008 - स्वामी विवेकानन्द मेडिकल मिषन, केरल
  2. वर्ष 2009 - वनबंधु परिषद, कोलकाता


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=ठक्कर_बापा_राष्ट्रीय_सम्मान&oldid=622392" से लिया गया