तैलवाह नदी  

तैलवाह नदी के उद्गम का उल्लेख कई जगह आता है। एक ही नाम की अलग-अलग जगह पर कई नदियाँ है जो इस प्रकार है:-

  1. सेरीवनिज जातक में उल्लिखित तैलवाह नदी का अभिज्ञान तैलंगिरि नामक नदी से किया गया है।[1] इस जातक के अनुसार अंधपुर नामक नगर तैलवाह के तट पर बसा था। डॉ. भंडारकर के मतानुसार में अंधपुर आंध्र प्रदेश का मुख्य नगर था। रायचौधरी के मत में तैलवाह नदी वर्तमान तुंगभद्रा नदी-कृष्णा नदी की संयुक्त धारा का प्राचीन नाम है और अंधपुर की स्थिति बेजवाड़ा के स्थान पर रही होगी।[2]
  2. तैलवाह नदी (बिहार) सोनपुर के निकट बहने वाली एक नदी। सुवर्णमेरु शिवमंदिर इसी नदी के तट पर अवस्थित है।
  3. तैलवाह नदी लुंबिनी के निकट एक छोटी नदी है, जिसका उल्लेख युवानच्वांग ने किया है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. देखें:- डा. भंडारकर-इंडियन एंटिक्वेरी 1918, पृष्ठ 71
  2. देखें रायचौधरी-हिस्ट्री ऑव एंशेट इंडिया, पृष्ठ 78

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=तैलवाह_नदी&oldid=267516" से लिया गया