दरियाई घोड़ा  

दरियाई घोड़ा
दरियाई घोड़ा
जगत जीव - जन्तु
संघ कॉर्डेटा (Chordata)
वर्ग स्तनपायी (Mammalia)
गण आर्टियोडैक्टाइला (Artiodactyla)
कुल हिप्पोपोटेमाइडी (Hippopotamidae)
जाति हिपोपोटैमस (Hippopotamus)
प्रजाति ऐम्फ़िबियस (amphibius)
द्विपद नाम हिपोपोटैमस ऐम्फ़िबियस (Hippopotamus amphibius)
अन्य जानकारी दरियाई घोड़ा के पसीने का रंग लाल होता है।

उष्णकटिबंधीय अफ़्रीका की अधिकतम नदियों में पाया जाने वाला सामान्य दरियाई घोड़ा का जंतु वैज्ञानिक नाम हिपोपोटैमस ऐम्फ़िबियस (Hippopotamus amphibius) है।

  • दरियाई घोड़ा एक बड़ा, भारी और छोटी टाँगों वाला रात्रिचर, शाकाहारी, खुरदार स्तनी है जो 4 मीटर लम्बा और 4 टन तक भार का होता है।
  • दरियाई घोड़ा छोटे समूहों में रहता है तथा दिन के समय जल में रहकर रात्रि को खाने के लिए बाहर आता है।
  • दरियाई घोड़ा की थूथन बहुत चौड़ी होती है।
  • नासारंध्र, नेत्र और सिर की पृष्ठ ओर स्थित छोटा कर्ण जलमग्न जीवन के अनुकूल होता हैं।
  • तनिक से जालयुक्त प्रयोक्त पैर में 4 खुरदार अँगूठे होते हैं।
  • थोडे बालों और नीचे वसा के एक मोटे स्तर सहित त्वचा 5 सेमी मोटी होती है।
  • दरियाई घोड़ा के पसीने का रंग लाल होता है।
  • साँड़ अपने गजदंत-समान निचले रदनकों को शस्त्रों की भाँती प्रयोग करके लड़ते है।
  • दरियाई घोड़ा अच्छे तैराक और गोताख़ोर होते है।
  • वामन दरियाई घोड़ा कीरोपसिस लाइबरिएन्सिस कंधों पर केवल 60 सेमी ऊँचा होता है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

वीथिका

टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=दरियाई_घोड़ा&oldid=329372" से लिया गया