दशकुमारचरित  

दशकुमार चरित गद्यकाव्य है, जो संस्कृत साहित्य के रचनाकार दंडी की रचना है।

  • इसमें दस कुमारों ने अपनी-अपनी यात्राओं के विचित्र अनुभवों तथा पराक्रमों का मनोरंजक वर्णन किया है।
  • विनोद और व्यंग्य के माध्यम से इसमें तत्कालीन समाज का भी चित्रण किया गया है।
  • दशकुमार रचना को दंडी की प्रारम्भिक रचना माना जाता है, लेकिन इसी के बल पर दंडी को संस्कृत का पहला गद्यकार भी कहा जाता है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=दशकुमारचरित&oldid=267973" से लिया गया