द्वारसमुद्र  

केदारेश्वर मंदिर, हलेबिड
  • द्वारसमुद्र आधुनिक हैलविड का प्राचीन नाम था।
  • यह होयसल वंश के राजाओं की राजधानी था, जो वर्तमान कर्नाटक क्षेत्र पर शासन करते थे।
  • इस राजधानी की स्थापना 'बिहिग' ने की थी, जो बाद में विष्णुवर्धन (लगभग 1111 से 1114 ई.) के नाम से विख्यात हुआ।
  • यह नगर वैष्णव धर्म का एक प्रमुख केन्द्र था।
  • विख्यात वैष्णव संत रामानुज को विष्णुवर्धन का ही संरक्षण प्राप्त था।
  • इस राजा ने कई भव्य विष्णु मन्दिरों का निर्माण करवाया था।
  • द्वारसमुद्र में बना विष्णु मन्दिर अपने सौंदर्य और कला के लिए बहुत विख्यात हुआ।
  • किसी समय द्वारसमुद्र का राज्य देवगिरि तक फैला हुआ था।
  • 1326 ई. में सुल्तान मुहम्मद तुग़लक़ की मुस्लिम सेना ने इस नगर को लूट-पाट करके बरबाद कर दिया।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

भट्टाचार्य, सच्चिदानन्द भारतीय इतिहास कोश, द्वितीय संस्करण-1989 (हिन्दी), भारत डिस्कवरी पुस्तकालय: उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान, 203।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः