नकछेदी तिवारी  

नकछेदी तिवारी (जन्म- 1862, डुमराँव, शाहाबाद) हिन्दी साहित्य के प्रसिद्ध कवि थे। ये 'अजान' उपनाम से हिन्दी काव्य रचना किया करते थे।[1]

  • डुमराँव, शाहाबाद के हल्दी गाँव में जन्में नकछेदी तिवारी की कर्मस्थली काशी (वर्तमान बनारस) रही थी।
  • 'गद्य' व 'पद्य' पर समान अधिकार रखने वाले तिवारी जी की प्रमुख कृतियाँ थीं-
  1. ‘कीर्ति कलानिधि’
  2. 'मनोज मंजरी संग्रह'
  3. ‘भड़ौआ संग्रह'
  4. ‘वीरोल्लाज’
  5. ‘खंगवाली’
  6. होरी गुलाल
  7. कविराज लछिराम का जीवन चरित्र
  • नकछेदी तिवारी ने ‘ठाकुर शतक’ तथा ‘बोछा इष्कनामा’ कृति को भी संपादित किया तथा ‘काशी कवि समाज’ नामक संस्था में अग्रणी भूमिका में शामिल रहे।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. काशी कथा, साहित्यकार (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 10 जनवरी, 2014।

संबंधित लेख

"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=नकछेदी_तिवारी&oldid=435755" से लिया गया