पंचगंगा  

पंचगंगा से अभिप्राय पाँच पवित्र जल धाराओं से है। इन जल धाराओं का समूह काशी, उत्तर प्रदेश में बताया जाता है।

  • इन पाँच धाराओं को 'पंचनद' नाम से भी जाना जाता है।
  • ऐसी मान्यता है कि पंचगंगा के घाट पर किरणा और धूपतापा नदियों का संगम हुआ था।[1]
  • पंचगंगा में जिन पाँच जल धाराओं को शामिल किया गया है, वह हैं-
  1. गंगा
  2. यमुना
  3. सरस्वती
  4. किरणा
  5. धूतपापा


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

भारतीय संस्कृति कोश, भाग-2 |प्रकाशक: यूनिवर्सिटी पब्लिकेशन, नई दिल्ली-110002 |संपादन: प्रोफ़ेसर देवेन्द्र मिश्र |पृष्ठ संख्या: 458 |

  1. प्रा.भा.सं.को., पृष्ठ 213

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=पंचगंगा&oldid=248110" से लिया गया