पहेली 12 फ़रवरी 2019  

Paheli-logo.png

1. बाबर ने 'तुलगमा युद्ध पद्धति' किससे ग्रहण की थी?

अफ़ग़ानों से
उज़बेकों से
वजीरियों से
पठानों से
बाबर
12 अप्रैल, 1526 ई. को बाबर और दिल्ली के सुल्तान इब्राहीम लोदी की सेनाएँ पानीपत के मैदान में आमने-सामने आ गईं। पानीपत के प्रथम युद्ध का आरम्भ 21 अप्रैल को हुआ। ऐसा माना जाता है कि इस युद्ध का निर्णय दोपहर तक ही हो गया। युद्ध में इब्राहीम लोदी बुरी तरह से परास्त हुआ और मार दिया गया। बाबर ने अपनी कृति ‘बाबरनामा’ में इस युद्ध को जीतने में मात्र 12000 सैनिकों के उपयोग किए जाने का उल्लेख किया है। किन्तु इस विषय पर इतिहासकारों में बहुत मतभेद है। युद्ध में बाबर ने पहली बार प्रसिद्ध ‘तुलगमा युद्ध नीति’ का प्रयोग किया था। बाबर ने यह युद्ध पद्धति' उज़बेकों से ग्रहण की थी। इसी युद्ध में बाबर ने तोपों को सजाने में ‘उस्मानी विधि’ (रूमी विधि) का प्रयोग किया।ध्यान देंअधिक जानकारी के लिए देखें:-बाबर, उज़बेक

आपके कुल अंक है 0 / 0



पहेली 11 फ़रवरी 2019 Arrow-left.png पहेली 12 फ़रवरी 2019 Arrow-right.png पहेली 13 फ़रवरी 2019


सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी
राज्यों के सामान्य ज्ञान
"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=पहेली_12_फ़रवरी_2019&oldid=635979" से लिया गया