प्रमोदिनी एकादशी  

इस दिन सोये हुए देवताओं को जगाया जाता है, इसलिए इसे देवउठान भी कहते हैं और सभी मंगल कार्य प्रारम्भ हो जाते हैं। इस दिन तीन वन परिक्रमा भी लगाई जाती है ।

संबंधित लेख

"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=प्रमोदिनी_एकादशी&oldid=186455" से लिया गया