प्रवीर घोष  

  • पन्नालाल घोष के शिष्य प्रसिद्ध बाँसुरी वादक पटना के पंडित प्रवीर घोष दस्तीकार एक ऐसे संगीतकार हैं, जिन्होंने 5000 से ज़्यादा गीतों की धुन तैयार की हैं।
  • राग रागेश्वरी की रचना उन्होंने की थी, जिसकी रिकार्डिंग पंडित रविशंकर ने 1969 में की थी।
  • पन्नालाल घोष की मृत्यु के कारण उनके प्रशिक्षण में बाधा पड़ी, परन्तु सौभाग्यवश शास्त्रीय संगीत के उस्ताद अली अकबर ख़ाँ से उन्होंने शास्त्रीय संगीत में प्रशिक्षण पाने का भी सौभाग्य प्राप्त किया।
  • 1971 में पोलीडोर कम्पनी के लिए एक अलबम 'फ्लूट फैसीनेशन' तैयार किया। उन्होंने यूरोपीय देशों में भी प्रसिद्ध कलाकारों के साथ अपना प्रोग्राम दिया और 1977 में पंडित रविशंकर और पंडित दस्तीदर सिर्फ़ दो एशियाई कलाकार थे, जिन्होंने फ्रीट्रेड हाल मैनचेस्टर में अपना बाँसुरी वादन का कार्यक्रम 4 घंटे तक लगातार किया था।
  • उल्लेखनीय है कि फ्रीट्रेड हाल, मैनचेस्टर का स्थान रायल अल्बर्ट हाल, लंदन के बाद दूसरा है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=प्रवीर_घोष&oldid=261740" से लिया गया