बंदर  

बंदर
Monky.jpg
जगत जंतु (Animalia)
संघ रज्जुकी (Chordata)
वर्ग स्तनपायी (Mammalia)
गण प्राईमेट (नरवानर)

बंदर एक मेरूदण्डी, स्तनधारी प्राणी है, तथा इसे कपि और वानर भी कहा जाता हैं।

  • इसके हाथ की हथेली एवं पैर के तलुए छोड़कर सम्पूर्ण शरीर घने रोमों से ढकी है। कर्ण पल्लव, स्तनग्रन्थी उपस्थित होते हैं।
  • मेरूदण्ड का अगला भाग पूँछ के रूप में विकसित होता है।
  • हाथ, पैर की अँगुलियाँ लम्बी नितम्ब पर मांसलगदी है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=बंदर&oldid=553693" से लिया गया