बरीदशाही राजवंश  

बरीदशाही राजवंश 1487 से 1619 ई. तक छोटे-से राज्य बीदर (अब दक्षिण-पश्चिमी भारत के कर्नाटक में) पर शासन करने वाला राजवंश था।

  • बरीद परिवार के सदस्य मुस्लिम बहमनी वंश के सुल्तानों के मंत्री थे, जिन्होंने 1430 में बीदर को अपनी राजधानी बनाया था।
  • लगभग 1492 में बहमनी राज्य का विखंडन हो गया था, लेकिन सुल्तानों ने बीदर के आसपास का एक छोटा क्षेत्र अपने क़ब्ज़े में रखा।
  • साम्राज्य की वास्तविक सत्ता उस समय अमीर कासिम बरीद के हाथ में थी। उनके पोते अली बरीद ने 1542 में राजसी उपाधि धारण की थी।
  • 1619 ई. में इस राज्य को बीजापुर के बड़े दक्कन राज्य में मिला दिया गया।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=बरीदशाही_राजवंश&oldid=560385" से लिया गया