बह'र  

बह'र अथवा बह्'र एक छंद, वह लयात्मकता जिस पर ग़ज़ल लिखी/ कही जाती है।

उदाहरण

बह्'र -ए- रमल, बह्'र -ए- हजज़, बह्'र -ए- रजज़ आदि



पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=बह%27र&oldid=317081" से लिया गया