ब्लॉग-चिट्ठा-चौपाल  

भारतकोश और हम
प्रशासन-प्रबंधन संरक्षण-सलाह सर्वाधिकार अस्वीकरण समाज मुखपृष्ठ मानक ब्लॉग संपर्क सहायता
फ़ेसबुक पर भारतकोश (नई शुरुआत) भारतकोश

Nib4.png नया ब्लॉग करें

  • भारतकोश का संदेश:

    भारतकोश "ज्ञान का हिन्दी महासागर" आपका स्वागत करता है। हम आपके सुझावों और विचारों को जानने को उत्सुक हैं। ब्लॉग करने के लिए हिन्दी और अंग्रेज़ी सुविधा उपलब्ध है।

  • मेघा मलिक का संदेश:

    आपका कार्य प्रशंसा योग्य है। विषयों की गहनता और रोचकता अच्छी है और अच्छे कार्य का प्रयास प्रशंसनीय है। टीम बधाई की पात्र है

  • ashwini का संदेश:

    आज उदयगिरी के बारे में पड़कर मुझे उदयगिरी की यादें ताज़ा हो गयीं धन्यवाद

  • भारतकोश का संदेश:

    अश्वनी जी धन्यवाद

    समय-समय पर अपने अमूल्य समय से कुछ समय निकाल कर भारतकोश के लिए सुझाव भी देते रहियेगा...यदि उदयगिरि के कुछ फ़ोटो भी हों तो भारतकोश के लिए दीजिए।

    आपकी अपनी

    भारतकोश टीम

  • Terry Feuerborn का संदेश:

    Thanks for your interest in my picture of the garden in Udaipur. You are welcome to use it. Thank you for letting me know.

  • Alok Trivedi का संदेश:

    Respected Sir,

    Kindly accept my heartiest greetings of Diwali & please pass my sincere appreciartion to your whole team on producing, compiling & editing the excellent collection of rare manuscripts, mythological antiques & detailed information on various festivals celebrated in India. I am charmed after reading the information given about Diwali, as well as about the shradh.

    I also thank a lot on changing the picture of Lord Ganesh sitting with Godess Laxmi Ji on his left in the article on Diwali. (Actually Godess Laxmi Ji was the aunt of Lord Ganesh, hence cannot sit on the left side of Lord Ganesh, a place reserved for the wife of Lord Ganesha).

    I wish that this effort of you & your team, is & will be, appreciated around the globe & the due credit is bestowed on such rare tasks undertaken to unearth the hidden/ lost piece of heritage.

    All the best to the whole team,

    Alok Trivedi, Mathura, India

  • M A Ravinder का संदेश:

    Hi,

    Thanks for picking up my Hyderabad photos for your website. If I am not mistaken it is based on the mediawiki format. More specifically the travel wiki.

    http://www.flickr.com/photos/rednivaram/2651778804/

    I am honoured, and hope you will pick some more photos from my flickr webstream - http://www.flickr.com/rednivaram. If there are other photos that you find interesting, do let me know, and I will change them to Creative Common if need be. I would love to contribute more pics to your website.

    Regards,

    M A Ravinder

  • Sachin Jadhav का संदेश:

    Thank you for choosing my picture on bharatdiscovery.org, in the Borivali, Mumbai section. I am currently based in Tamil Nadu and travel to Mumbai often. I would be glad to help with any more pictures which may be required for bharatdiscovery.org Thanking you.

  • Nagesh Kamath का संदेश:

    Hi,

    Thank you for notifying me of the usage of my photograph (http://www.flickr.com/photos/nagesh_kamath/2728881644/) on your website. Nice to see a venture like this. Please feel free to continue using the image on your website.

    Also, if you find any other images on my photostream which you find useful for your website do let me know. I have changed licenses of images in the future after the above mentioned image to CC ShareAlike Non-commercial. However, if you find that they are useful for your cause, do let me know.

    Thank you!

    Regards,

    Nagesh

  • James Honaker का संदेश:

    Hi,

    I'm glad you chose to use one of my images on Bharatdiscovery. I only ask that you attribute the image to me (Bored-Now is fine) and link back to the Flickr photo page (http://www.flickr.com/photos/bored-now/2298766226/).

    Thanks,

    James Honaker

  • विनय बावडेकर का संदेश:

    मुझे यह जानकर खुशी हुई की मेरी खिची हुई तस्वीर आपके प्रोजेक्ट में इस्तेमाल हो रही है।

    http:[email protected]/3467629934/

    इस तस्वीर के प्रयोग के विषय में मुझे कोइ आपत्ति नहीं है। यदि भविष्य में आप इस तस्वीर को हटाकर दूसरी तस्वीर इस्तेमाल करना चाहते हैं तो मुझे खबर ज़रूर करें।

    धन्यवाद

    विनय बावडेकर

  • विजय प्रभाकर नगरकर का संदेश:

    आपका यह कार्य अत्यंत प्रशंसनीय है। संपादक मंडल बधाई के पात्र है। हिंदी में काम करने वाले सभी लोगों के लिए यह एक गंगा घाट है। हार्दिक शुभ कामनाएँ।

  • भारतकोश का संदेश:

    विजय प्रभाकर जी

    आपको बहुत धन्यवाद आपका ब्लॉग बहुत ज्ञान वर्धक है। आपको भी भारतकोश की ओर से बहुत बधाई।

    आदित्य चौधरी

    भारतकोश

  • Jayasuriya Chellam का संदेश:

    विजय प्रभाकर जी

    सादर प्रणाम । यह वेबसाइट काफी उपयोगी है । भारत कोश टीम का यह प्रयत्न सचमुच अत्यंत सराहनीय है । आपको मेरी हार्दिक बधाईयाँ । शुभ कामनाओं के साथ,

    जया सूर्या चेल्लम

  • Nitin Badhwar का संदेश:

    Thanks for Selecting my Amarnath Picture

    I have no objection for usage of my photo for this website.

    Kindly do not use this picture for any other purpose then specified in your email.

    I also congratulate for starting website in Hindi

    A great service for our mother tounge.

    I have some other photographs of different cities also, if you would like to use, kindly let me know

    Regards

    Nitin

  • Ramesh Lalwani का संदेश:

    Sir

    I am happy to see that you have used my Gorkha Rifles photo.I am quite happy to share my work with non profit organisation like yours.Please let me know if you find any more of my photos useful for the project.

    Regards

    Ramesh

  • Raja का संदेश:

    Hello,

    I just saw the comment you had posted on my photo of a kullar. I feel flattered that you selected my picture for your wiki (your website is quite nice too).

    In fact, this is why I have licensed all my pictures under CC so that others can use them;

    however this is the first time anybody has come forward to use any of my pictures.

    Thanks for the free publicity, and please feel free to use any of my other pictures as well!

    Raja

  • Niranj Vaidyanathan का संदेश:

    Hello!

    Thank you for notifying me about the usage of one of my pictures on your website. Great to see a website cataloging everything Indian in Hindi.

    Regards

    Niranj

  • gulshan sharma का संदेश:

    आदरणीय आदित्य जी,

    नमस्कार ! आपके अनुरोध पर भारत कोश देखा, बहूत बहूत पसंद आया, मैं कंप्यूटर के बारे मे कम जानता हूँ।

    इतना सब कुछ आप कैसे कर लेते हैं। फिर भी इतनी जानकारी के लिए कोटि कोटि धन्यवाद।

    संपादक मंडल बधाई के पात्र है।

  • pankaj का संदेश:

    नमस्कार जी,मुझे इस साईट से काफ़ी सूचना मिली है,इतना सब कुछ है इस साईट पर सब जानकर बड़ा अच्छा लगा। मेरी ओर से आप सब को हार्दिक शुभकामनायें।

  • Kara Newhouse का संदेश:

    Thank you for notifying me of the use of my flickr photo on bharatdiscovery.org.

    I'm glad your project found it useful!

    If you could please change the "author" to say my name "Kara Newhouse"

    Thanks!

    Kara

  • Gangesh Kumar Thakur का संदेश:

    Good one Good One .............................

  • neena sharma का संदेश:

    I feel pleasure to read about Dwarkadheesh Temple. Mujhe aisa laga ki maine Mandir mein Bhagwan ke dashan kar liye hain

  • shiv का संदेश:

    आपका प्रयास प्रशंसा योग्य है, लेकिन आप एक बार www.hindisamay.com को अवश्य देखें।

  • भारतकोश का संदेश:

    शिव प्रकाश जी, भारतकोश पर हिन्दी समय वेबसाइट का एक अपना पन्ना है कृपया उसे देखें...

  • vishwajeetsingh का संदेश:

    नमस्कार जी , मुझे भारत कोश बहुत पसंद आया , मै इस सुन्दर कार्य के लिए आप सब को हार्दिक बधाई देता हूँ ,

  • Ashok Jaiswal का संदेश:

    बहुत ही शानदार साईट है, मुझे तो आज ही पता चला, मन खुश हो गया।

  • Ashok Jaiswal का संदेश:

    ढेर सारी जानकारियों से भरपूर बहुत ही शानदार साईट है, मुझे तो आज ही पता चला. मन खुश हो गया, आप सब को हार्दिक बधाई.

  • krishna sharma का संदेश:

    नमस्कार जी , मुझे भारत कोश बहुत पसंद आया ,मैं इस सुन्दर कार्य के लिए आप सब को हार्दिक बधाई देता हूँ ,

    राम नवमी की हार्दिक मंगलमय शुभकामना श्री रामजी आप सभी की मनो कामना पूरी करें जय श्री राम जय श्री राम जय जय श्री राम इसको बोलते रहियेगा

    आप सभी का कल्याण होगा ........

  • BIJENDRA SINGH का संदेश:

    Dear Sir I knew about the website through Newspaper "HINDUSTAN" . I fond the website a vast knowledge resource for Indian Culture, geographical, cultural and all about India.

  • kamal का संदेश:

    this is the best site for all type of preparation

  • binod yadu का संदेश:

    aap का gk food inspector me aaya hai

    mujhe isse फायदा हुआ

    science subject ka 20 question tha.

  • भारतकोश का संदेश:

    बिनोद जी,

    आपका संदेश मिला, बहुत अच्छा लगा कि आपको परीक्षा में भारतकोश के सामान्य ज्ञान (विज्ञान शाखा) से सहायता मिली।

    भारतकोश आपके उज्जवल भविष्य के लिए कामना करता है।

  • SURYA BHUSHAN का संदेश:

    BHARAT KOSH WASTAV ME AK BEHATRIN WEBSAITE HAI ESKA SAMPADAN KOUSHAL KISI ANYA KI APEKSHA ANYATAM HAI.ESKE LIYE APKO DHER SARI SHUBH KAMNAYEN AUR SADHU VAD.

  • भारतकोश का संदेश:

    सूर्यभूषण जी

    आपकी प्रशंसा का बहुत-बहुत धन्यवाद

    आपने भारतकोश की वर्तनी और सम्पादन की मुक्त कंठ से प्रशंसा की है, इससे अच्छा भी लग रहा है और डर भी...

    निश्चय ही अब और भी सतर्क रहना होगा। कृपया सुझाव देते रहिएगा जिससे कि भारतकोश पर भूल सुधार होती रहे और गुणवत्ता बनी रहे।

    आशा चौधरी -प्रशासक

  • Neelesh का संदेश:

    परम सम्मानीय

    आपके प्रयासों के लिए साधुवाद !

    आपके प्रयासों से हिंदी भाषा को विश्वजगत में अत्यधिक ख्याति प्राप्त हुई है । आज हिंदी सीखने वालो के लिए यह वरदान स्वरुप है।

    पाश्चात्य संस्कृति की और बढ़ते भारत में हिंदी को सीखने के लिए तकनीक का इस्तेमाल करके आपने इसे सर्वसुलभ और इसके सीखने को आसान कर दिया है |

    आपका पुनः धन्यवाद !

  • भारतकोश का संदेश:

    सम्मान्य नीलेश जी

    आपने भारतकोश की प्रशंसा इतने प्रभावी शब्दों में की है कि मन में विश्वास हो गया कि हमारा प्रयास अकारथ नहीं जा रहा...

    आपका बहुत-बहुत धन्यवाद कृपया सुझाव देते रहिएगा

    आदित्य चौधरी

    प्रशासक

  • Mike का संदेश:

    कभी तो खुल के बरस अब्र-ए-मेहरबां की तरह,

    मेरा वजूद है जलते हुए मकां की तरह,,

    भरी बहार का सीना है ज़ख्म ज़ख्म मगर,

    सबा ने गाए हैं नग़मे शफ़ीक दिल की तरह,,

  • Mike का संदेश:

    ये दौर-ए-मसर्रत, ये तेवर तुम्हारे

    उभरने से पहले ना डूबें सितारे, भंवर से लड़ो कुंद लहरों से उलझो

    कहाँ तक चलोगे किनारे-किनारे

  • Mike का संदेश:

    बहुत अच्छी वेब साईट है जी, मज़ा आता है इस पर

  • भारतकोश का संदेश:

    शुक्रिया माइक जी अच्छे सुख़न हैं।

  • ajay maurya का संदेश:

    मुझे आपके इतिहास की जानकारी बहुत ही अच्छी लगी और मैं पहली बार आपकी वेबसाइट पढ़ रहा हूँ। मुझे इतिहास में काफ़ी रुचि है। अब मैं ब्लॉग की सारी जानकरी ज़रूर पढूंगा।

  • भारतकोश का संदेश:

    अजय जी

    आपने प्रशंसा की आपका बहुत धन्यवाद कृपया भारतकोश का प्रचार भी करें जिससे सभी को यह पता चले फ़िलहाल भारतकोश के प्रतिमाह तीन लाख पन्ने पढ़े जा रहे हैं। आप यह गिनती और बढ़वा सकते हैं।

    आदित्य चौधरी

    प्रशासक भारतकोश

  • KAUSHALYA का संदेश:

    नमस्ते महोदय..

    भारतकोश में हिंदी को बढ़ावा देने का एक बहेतरीन सफल प्रयास है... हमने हमारे बी.एड. के पढाई के दौरान जो सेमिनार के लिए विषय चयन किया था वह भी इसी पर था जिसका नाम - "भारत में हिंदी भाषा के सामने चुनौती". इस विषय पर खोज करते समय हमे हिंदी के बारे एक जानकारी यह प्राप्त हुई की हिंदी भाषा बोलनेवालो की संख्या विश्व में सब से अधिक है... आज सब हिंदी को समझना - सीखना चाह रहे है...जापान के एक भाई ने इसे एक दिन में सीख लिया.. सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा में जापानी भाषा के बाद हिंदी दूसरे स्थान पर है...

    जय श्री कृष्ण

  • Dr.Pranav Devendra Shrotriya का संदेश:

    मै भारत कोष का सदस्य बनना चाहता हू .जानकारी देने का की कष्ट करे .सहयोग के लिए धन्यवाद .डॉ.प्रणव देवेन्द्र श्रोत्रिय इंदौर [मध्य प्रदेश ]

  • भारतकोश का संदेश:

    कौशल्या जी

    प्रशंसा के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद

    दुनियाँ में अधिक बोले जानी वाली भाषा चीन की मंदारिन है, जापानी नहीं... उसके बाद हिन्दी या हिन्दुस्तानी आती है।

    धन्यवाद सहित

    आदित्य चौधरी

    प्रशासक

  • shankar chandraker का संदेश:

    आपका यह प्रयास बेहद प्रशंसनीय है. इसकी जितनी तारीफ की जाय कम है. आपका यह कारवां निरंतर बढता ही जाये. इन्ही शुभकामनाओं के साथ

  • भारतकोश का संदेश:

    शंकर जी !

    आपका बहुत धन्यवाद

    आदित्य चौधरी

  • JAMALUDDIN ANSARI का संदेश:

    THIS IS VERY INTERESTING SITE, IMPROOVE KNOWLEDGE, WORD POWER & MANY MORE.

  • GEETA का संदेश:

    थिस इस वैरी गुड वेबसाइट फॉर KNOWLEDGE

  • Ravindra Bhargava का संदेश:

    भारत ज्ञान कोष के बारे मे जानकारी से अबगत हुआ | धन्यबाद |

  • Avadhesh Kumar Maurya का संदेश:

    Dear bharat-kosh Team,

    I am very thankful to you for such a great collection of old and rare documents,photo etc. Today I enjoyed your Objective Test Series of different subjects. Realy, Your way of presentation is excellent.This is a good creation.

    Thanks again

  • Dr.Harekrishna Meher का संदेश:

    I am very much delighted to visit "Bharat Kosh" while browsing on internet. This site is really a marvellous repository of Indian Literature and Indian wisdom. Sanskrit Literature has a unique place in the sphere of World Literature and it has been given a special recognition in this site. Many thanks and congratulations for your sincere endeavours in preserving the Indianness and oriental documents through Hindi.

    I like to draw your kind attention towards my Hindi Translation of Oriya Mahakavya "Tapasvini" written by Poet Gangadhar Meher (1862-1924). This Ramayana-based kavya Tapasvini, comprising eleven cantos and depicting the post-banishment episode of Sita, deserves a significant position in Indian Literature. Complete Hindi Version of 'Tapasvini' Kavya published by Sambalpur University is available on my blogsite. I again extend my hearty thanks to Bharat Kosh Team for this excellent site on India.

    • Dr. Harekrishna Meher,
    Bhawanipatna, Odisha.

  • profrlmeena का संदेश:

    भारत कोश टीम को हार्दिक बधाई

    सचमुच दिल खुश हो गया हिंदी की इतनी सारी जानकारी देख कर. सच कहूँ आपने तो विकिपीडिया को भी मात दे दी है.

    मैं मीडिया और भाषाविज्ञान का विशेषज्ञ हूँ यदि आपको इस जनहित कार्य में मेरी सेवाओं की जरूरत महसूस हो तो बिना किसी मानदेय के तैयार हूँ.

    सादर

    शुभकामनाओं सहित

    डॉ राम लखन मीणा

    एशोसिएट प्रोफ़ेसर एवं अध्यक्ष

    हिंदी विभाग

    सत्यवती कोलेज

    दिल्ली विश्वविद्यालय, दिल्ली

  • dinesh dan charan का संदेश:

    आप की सभी जानकारी अच्छी लगी धन्यवाद

  • RINKI KUMARI का संदेश:

    सर,

    कोई फाइल अपलोड कैसे करेंगे कृपया बताये यह ज्ञान का भंडार वेबसाइट है

    हिंदी लिखने में पूर्ण विराम किस से दिया जाता है बताये

  • AMARNATH SHARMA का संदेश:

    आदरणीय आदित्यजी मैं आपका पुराना रीडर हूँ पर मेरे पास से मोबाईल खो जाने से आपका इ-मेल और फोन नंबर भी खो गया , कृपया दोनों दें नाम पड़ कर शायद आपको याद आ ही जाय , कुछ दिन पहले आपकी साईट पर कलयुग की उम्र ठीक कराई थी। कुछ समस्या है निवारण चाहता हूँ। अमरनाथ शर्मा एवं कविता शर्मा

  • KAVITA(AMAR)SHARMA का संदेश:

    आदित्यजी नमस्कार, इस माया के संसार मैं जीव मैं यह कमी है ही कि अपने पर से वह विश्वास खो देता है जैसा कि आपके

    "Jun 02 2011 8:13 pm सम्मान्य नीलेश जी ,आपने भारतकोश की प्रशंसा इतने प्रभावी शब्दों में की है कि मन में विश्वास हो गया कि हमारा प्रयास अकारथ नहीं जा रहा... आदित्य चौधरी"

    इन शब्दों से प्रतीत होता है पर मेरा मानना है कि विश्वास की द्रड़ता ही जीव की सफलता है। आपका कार्य तो इतना प्रभावी है कि आपसे पहले किसी ने सोचा तक नहीं और आपने इसे इतनी सरल भाषा मैं प्रतिपादित कर दिया है। आपका यह प्रयास- जितनी तारीफ की जाय कम है. आपका यह कारवां निरंतर बढता जाये. इन्ही शुभकामनाओं के साथ

    कविता (अमर नाथ) शर्मा

  • भारतकोश का संदेश:

    डॉ राम लखन मीणा जी

    आपने तो प्रशंसा के साथ-साथ स्वयं को योगदान हेतु प्रस्तुत भी किया, बहूत अच्छा लगा। आपकी हौसला अफ़ज़ाई का बहुत शुक्रिया।

    आप भारतकोश पर संपादन कार्य प्रारम्भ कर सकते हैं और इसके लिए किसी की अनुमति की आवश्यकता नहीं है।

    आदित्य चौधरी

  • रवि श्रीवास्तव का संदेश:

    आज प्रथम बार भारत कोश की वेबसाइट को देखा और प्रभावित हुए वगैर नहीं रह सका सच मानिए तो अभिभूत हो गया। इतनी खूबसूरती के साथ आपने भारतीय संस्कृ‌ति और ज्ञान को इस वेबसाइट में पिरोया है कि सदस्य बनने को बाध्य हो गया। निश्चय ही आपके प्रयास साधुवाद के पात्र हैं। भारत ज्ञान कोश को एक आन्दोलन का रूप देना होगा। बड़े ही नहीं बच्चे भी इसे अपनी किताब बनाएँ और माता-पिता और स्कूल उन्हें प्रोत्साहित करें। एक बार पुनः पूरी टीम को हार्दिक धन्यवाद! ज्ञान की इस अलख को जगाने के लिए।

  • भारतकोश का संदेश:

    रवि जी आपको बहुत धन्यवाद भारतकोश की प्रशंसा करने के लिए।

    आपने सच ही कहा कि इसे आन्दोलन का रूप देना चाहिए। हमने कोई योजना नहीं बनाई क्यों कि योजना तो वो बनाते हैं जिनके पास आवश्यकतानुसार अर्थ की व्यवस्था हो... हमने एक सपना देखा और उसे सच करने में लग गये...बस इतनी सी कहानी है अपनी तो...

    आदित्य चौधरी

  • रवि श्रीवास्तव का संदेश:

    आदित्य जी, कुशलक्षेम के साथ आपके त्वरित उत्तर के लिए धन्यवाद! कोई बात नहीं यदि अर्थ नहीं है तो क्या? भारतकोश के पास एक जुनून और मानवीय सामर्थ्य तो है। एक रणनीति बनाकर सबसे पहले भारतकोश को स्कूलों और कालेजों की दहलीज तक लाना होगा। संस्था द्वारा हर जिले में ब्लाक व तहसील स्तर पर सदस्य बनाकर उस क्षेत्र के स्कूल/कालेज तक अपनी बात पहुँचानी होगी। दिलचस्प प्रतियोगिताओं का आयोजन कर प्रमाण-पत्रों सहित पुरस्कारों के माध्यम से भी ये कार्य सहजता पूर्वक किया जा सकता है और आने वाले साधारण खर्च को बिना किसी मुनाफे के प्रतिभागियों से आग्रह पूर्वक प्राप्त किया जा सकता है। मेरे खयाल से वो दिन दूर नहीं होंगे जब भारत को जानने के लिए लोग विकिपीडिया नहीं बल्कि भारतकोश को साथी बनाएँगे।

  • Surinder Singh का संदेश:

    बहुत खूब , आप को बधाई!

  • Amit Panigrahi का संदेश:

    नमस्कार सर, मै छत्तीसगढ़ से हूँ, हमारे स्टेट में psc की अधिसूचना जारी हो चुकी है, क्या आप छत्तीसगढ़ से सम्बंधित सामान्य ज्ञान अपलोड कर सकते हैं ? आपके आभारी रहेंगे .

  • JEEWA RAM SUTHAR का संदेश:

    आपके द्वारा दी गयी जानकारी बहुत ही ज्ञानवर्धक व बहुत सारे विषयों को समझने में बहु उपयोगी है

    कृपया नवीनतम जानकारियां साझा करते रहें आपका प्रयास विकिपीडिया को भी मात दे रहा है

    आपका बहुत बहुत धन्यवाद

  • भारतकोश का संदेश:

    अमित जी

    छत्तीसगढ़ राज्य से संबंधित सामान्य-ज्ञान प्रश्नोत्तरी पर कार्य शुरू हो गया है, लेकिन सीमित साधनों के चलते, गति अभी धीमी ही है

    आदित्य चौधरी

  • भारतकोश का संदेश:

    जीवा राम जी

    बहुत धन्यवाद आपने भारतकोश की प्रशंसा की। भारतकोश का और प्रचार-प्रसार भी करिएगा...

    आदित्य चौधरी

  • shobha lal teli का संदेश:

    सादर प्रणाम ।

    यह वेबसाइट काफी उपयोगी है । भारत कोश टीम का यह प्रयत्न सचमुच अत्यंत सराहनीय है । आपको मेरी हार्दिक बधाईयाँ । शुभ कामनाओं के साथ,

    shobha lal teli

  • Gulab singh का संदेश:

    वास्तव में आपकी टीम प्रशंसा व बधाई की पात्र है भारतकोश में आपने वो जानकारी दी है जो शायद दूसरी जगह खोजना कठिन है

    बहुत उपयोगी है आप इसी तरह उन्नति करते रहे हम यही दुआ करते हैं। आप से एक प्रार्थना है अगर आप समसामयिक घटनाओं (कर्रेंट अफ़ैयर्स) को भी दिखाते रहे तो बड़ी कृपा होगी

    धन्यवाद्

  • भारतकोश का संदेश:

    शोभा लाल जी अभिवादन

    आपका बहुत-बहुत धन्यवाद

    आदित्य चौधरी

  • भारतकोश का संदेश:

    गुलाब सिंह जी

    प्रशंसा के लिए बहुत धन्यवाद!

    सम-सामयिक घटनाओं के संबंध में विचार चल रहा है किन्तु निकट भविष्य में संभव नहीं हो पायेगा क्षमा करें

    आदित्य चौधरी

  • hardevsinh का संदेश:

    bharat kosh hamare anevale bhavishya ke liye sabse badi itehas ki den he.

  • faiyaz का संदेश:

    सर आपका साईट बहुत अच्छी है

  • kishor का संदेश:

    आज मुझे बहुँत अच्छा लगा में आशा करता हु कि आगे भी कुछ नए मेटर के साथ आप हमे अवगत करयेगे थंक सर

  • Rajat arya का संदेश:

    आप की वेबसाइट हमको बहुत अच्छी लगी . आप को धन्यवाद् .

  • shobha lal का संदेश:

    Lot of Thanks 'Bharat Kosh' to help me, in making my favourite page 'Sh. Nakoda Parashwa Tirth'. I feel very good that any one can see my god sh. Nakoda bhairav on Bharatkosh.

    आपका बहुत-बहुत धन्यवाद

    शोभा लाल Udaipur

  • satish का संदेश:

    ये वाकई सम्पूर्ण वेबसाइट है, आशा है नए नए विषयो पर आगे भी इसी प्रकार जानकारी देते रहेंगे... शुभकामनाए....

  • amit kumar singh का संदेश:

    आप आने वाली पीढ़ी को वो दे रहे है , जो उनकी जिज्ञासाओं का अंत करने में मददगार साबित होगा . इसी तरह से इस धर्मार्थ कार्य को करते रहे , आपका सदा आभारी रहूँगा

  • Bharati Dhruw का संदेश:

    भारतकोश टीम को मेरा धन्यवाद्! हिंदी पाठकों के लिए ये किसी वरदान से कम नहीं है. सराहनीय प्रयास के लिए बधाई ..........

  • Saurabh Tripathi का संदेश:

    अत्यंत प्रसंशनीय

    भारत कोष टीम को बहुत बहुत धन्यवाद

    आप को कोटि कोटि नमस्कार व धन्यवाद

  • PUSHPA का संदेश:

    आज पहली बार भारत कोश देखा, बहुत-बहुत पसंद आया. वास्तव में आपकी टीम प्रशंसा व बधाई की पात्र है भारतकोश में आपने वो जानकारी दी है जो शायद दूसरी जगह खोजना कठिन है. आपके इस सराहनीय प्रयास के लिए बहुत सारा धन्यवाद. ये ऐसे ही फलता फूलता रहे. विथ बेस्ट ऑफ़ लक.

  • AVADHESH SHARMA का संदेश:

    रामायण के (संबंधित लेख) खर दूषण लेख मैं (मेघप्रभ के पुत्र -खर दूषण) लिखा है, रावण लेख मैं (रावण पुलस्त्य मुनि का पोता अर्थात उनके पुत्र विश्वश्रवा का पुत्र )था लिखा है, शूर्पणखा लेख मैं (रावण ने उसे आश्वस्त करते हुए अपने भाई खर )के पास रहने के लिए भेज दिया लिखा है, तो मेरा प्रश्न है रावण के पिता मेघप्रभ या विश्वश्रवा कौन थे ? अवधेश शर्मा (पुत्र श्री अमर नाथ शर्मा एवं श्रीमती कविता शर्मा)

  • AVADHESH SHARMA का संदेश:

    वाह, क्या साइड है तारीफ के लिए किसी शब्दकोष मैं शब्द हैं ही नहीं / रवि श्रीवास्तव , जनवरी ०७, २०१२ ने लिखा है, (भारत कोश के पास अर्थ नहीं तो क्या? जुनून और मानवीय सामर्थ्य तो है) और जो कुछ (लिखा) कहा है उसमें मेरा कोई योगदान हो सके तो मैं आपके संगरक्षण मै हमेशा उपलब्ध रहूँगा / अवधेश शर्मा (पुत्र, श्री एवं श्रीमति अमर नाथ शर्मा)

  • भारतकोश का संदेश:

    भारतकोश की प्रशंसा के लिए बहुत धन्यवाद पुष्पा जी !

  • भारतकोश का संदेश:

    अवधेश जी,

    अनेक धार्मिक ग्रंथों में एक ही पात्र के विभिन्न संदर्भों की संभावना बनी रहती है वैसे खर और दूषण रावण के ही विमातृज (सौतेले) भाई थे। इनकी माताओं के नाम क्रमश: पुष्पोत्कटा एवं वाका था। जबकि रावण कैकसी से और कुबेर देववार्णिनी से पैदा हुए थे। यह उल्लेख वायु पुराण में आया है। भारत कोश के लेखों को मैं आज दिखवाता हूँ। रावण के पिता का नाम भी भिन्न प्रकार से लिखा मिलता हैं जैसे 'विश्रवा' और 'विश्रवस'

    आदित्य चौधरी

  • भारतकोश का संदेश:

    बहुत धन्यवाद सौरभ जी

  • ankit agrawal का संदेश:

    सर,

    आप की वेबसाइट काफी उपयोगी है । भारत कोश टीम का यह प्रयत्न सचमुच अत्यंत सराहनीय है । आपको मेरी हार्दिक बधाईयाँ । शुभ कामनाओं के साथ

    थैंक्यू.

  • AMARNATH SHARMA का संदेश:

    आपकी जानकारी मैं क्या कहीं कंबन कृत रामायण (रामावतारम् या कंबरामायण) का हिंदी या अंग्रेजी मैं अनुवाद मिल सकता है अगर हाँ तो कृपया जानकारी dene की krapa करें

  • Ravindra Singh का संदेश:

    सबसे पहले मेरी तरफ से आप सब को प्रणाम, मैं बहुत खुश हूँ कि आपने इतना अच्छी जानकारियां हिंदी में उपलब्ध करायीं क्योंकि इंग्लिश में तो ठेर सारी वेबसाइट हैं लेकिन हिंदी की तरफ कोई ध्यान ही नहीं देता इसलिए हम हिन्दिवासियों को भी मौका है बहुत सारी जानकारियां पड़ने का ..... धन्यवाद् रिक्की राजावत

  • Dr sangib kumar का संदेश:

    जब से जुड़ा हूँ घंटो पढता रहता हूँ .मेरे पास शब्द ही नहीं कैसे मै आपको कहूँ की यह कितना बड़ा कम किया है आपने . भगवान् आपको लम्बी उम्र दे ताकि हम सभी आपसे लाभ उठा सके . अथाह सागर है मै इधर उधर भटकता था लेकिन अब सारी चीजें यही मिल जाती है आपको बहुत बहुत धन्यवाद्

  • neeraj shukla का संदेश:

    श्री राधे भारत कोष कोई साधारण कोष नहीं है ये साक्षात् भगवत वाणी है मैं धन्यवाद देना चाहूँगा जिन्होंने इतनी बड़ी वेबसईट तैयार की है और लोगो तक सरल शब्दों में पहुँचाया है आज का इन्सान इतना मेहनत कहाँ कर सकता है इससे लोगो को बहुत कुछ सीखने को मिल रहा है. जो की हमें कितने शास्त्रों को खोजने के वजह इसी वेबसईट पर सब कुछ आपने गागर में सागर भर दिया श्री राधे मेरे लायक कोई सेवा हो तो जरुर अवसर दीजियेगा बहुत बहुत बधाई आप लोगो को हजारो साल जियें और इसी तरह अच्छे काम करे धन्यवाद के साथ आपका नीरज कृष्ण शास्त्री वृन्दावन

  • Arun kuma का संदेश:

    आपके द्वारा लिखा गया बहुत ही प्रशंसनीय है

  • KESHAV VERMANI का संदेश:

    भारत कोश ज्ञान का हिंदी महासागर है इस में कोई शक नहीं है , भारत कोश को सलाम ...बारम्बार सलाम ...भारत माता को सलाम ...आदित्यजी आपको सलाम

  • KESHAV VERMANI का संदेश:

    आदित्य जी ...जय हिंद ...आप का प्रयास भारत कोश महान है ,इतना ज्ञान समेटे हुए यह महा सागर ही तो है ...आदित्यजी आप इतना कुछ कर रहें हैं कृपया कर के शहीदों के नाम अपने सम्पादकीय में लिखे... ए मेरे वतन के लोगो... आदित्यजी एक प्रार्थना है आपसे अपने लेख में शहीदों को हमेशा याद करने का ऐसा सन्देश प्रसारित करें ताकि हम हमेशा शहीदों को अपने दिलों में बसाये रखे ...

    शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर बरस मेले ,वतन पर मिटने वालो का यही बाकी निशाँ होगा । ऐसा नहीं लिखना क्योंकि शहीद कभी नहीं मरते शहीद अमर हैं हम उनकी चिता का जिक्र ही नहीं करना चाहते बल्कि हम उनकी यादों को हमेशा ताज़ा रखना चाहतें है आप हमारी मदद करें |

    शहीदों की याद में लगेंगे हर रोज़ मेले , रोज़ करेंगें याद इन्हें कभी छोड़ेंगें नहीं अकेले |

    ऐसा क्यों  ?..... शहीदों की चिताओं पर लगते है हर बरस मेले ,एक दिन याद करके बाकी दिन छोड़ देते है शहीदों को अकेले

  • Pushkar singh का संदेश:

    इस वेबसाइट के द्वारा मुझे काफी कुछ जानने को मिला ....धन्यवाद .

  • KESHAV KUMAR का संदेश:

    भारतकोश भारत माता की सबसे बड़ी पहचान है ,गर्व होता है जब भारतकोश के माध्यम से इतनी जानकारी मिलती है ....संपादकीये ...क्या तारीफ करू... कैसे करू...श्री मान आदित्यजी | आदित्य जी आप सेप्रार्थना है कि शहीदों के लिए कुछ जरूर लिखे ... ऐसा लिखे ... ऐसा लिखे...कि मेरे वतन के लोग शहीदों के नाम अपना हर अच्छा कर्म करते रहे और शहीदों के नाम को अपने हर अच्छे कर्म के साथ जोड़ते रहे ... केशव कुमार

  • suresh bishnoi jangu का संदेश:

    आपका कार्य प्रशंसा योग्य है। विषयों की गहनता और रोचकता अच्छी है और अच्छे कार्य का प्रयास प्रशंसनीय है। टीम बधाई की पात्र है में आपका बहुत आभारी हु की आप ने बहुत आची जानकारी दी मुक्त कंठ से आपकी प्रश्नः करता हु

  • AVADHESH SHARMA का संदेश:

    neeraj shukla का संदेश: May 14 2012 5:31 pm के साथ जोड़ना चाहूँगा कि अगर संभव हो सके तो इस साईट पर वाल्मिक रामायण और मनुस्मृति श्लोकानुवाद के साथ उपलब्ध कराएँ, यह दोनों ही पुस्तकें (ग्रन्थ) आज के परिपेक्ष मैं मानवता के लिए उपयोगी ही नहीं परम आवश्यक हैं जिनसे मानव को जीवन जीने क़ी कला , रास्तों का प्रतिपादन करातीं हैं

  • BUDHAN RAM का संदेश:

    sir

    bharat gayan kosh is very very good, but i am giving one sugession, all objective question or MCQ should be chapter wise. so that student can get much benifit.

    Thanks & Regards,

    Budhan Ram

    Central University of Jharkhand

  • भारतकोश का संदेश:

    धन्यवाद अरुण जी

  • भारतकोश का संदेश:

    आपको भी सलाम और धन्यवाद! केशव जी ! शहीदों की याद तो मेरे दिल में हमेशा बनी रहती है। मेरे प्रपितामह (दादा जी के पिता) को 1857 में अंग्रेज़ों ने फांसी दी थी। उनका नाम इतिहास में दर्ज है।

  • भारतकोश का संदेश:

    धन्यवाद सुरेश जी

  • भारतकोश का संदेश:

    अवधेश जी ! बहुत अधिक काम है और न समय है न दाम है। प्रयास करूँगा इतना ही कह सकता हूँ। आदित्य चौधरी

  • भारतकोश का संदेश:

    बुधन जी आपकी सलाह पर विचार कर रहे हैं

  • AVADHESH SHARMA का संदेश:

    पढकर प्रसन्नता हुई कि आपने ईद ऑर ध्यान दिया प् आप जैसे व्यक्तित्व और विचार वाले व्यक्ति से दाम प्रयोग देख कर आश्चर्य हुआ .मैं समझ तो गया आप क्या कहना चाह रहे हैं फिर भी निवेदन करूँगा कि कमसेकम मनुस्मृति पर अवश्य कम करें , इसमें मैं कुछ काम आ सका तो अपनेको भाग्यशाली समझूंगा अगर आपके पास अर्थ सहित मनुस्मृति है तो मैं कोशिश करूँगा कि पि डी ऍफ़ फाइल बना सकूँ क्रपया मेरी बात पर ध्यान दें /

  • ravikant का संदेश:

    आज अकस्मात ही भारत कोष की वेबसाइट देखकर बहुत ख़ुशी हुई, भारत कोष हिंदी माध्यम के छात्रों के लिए ज्ञान का सागर हे निश्चित ही मेरे और मेरे जैसे अन्य विधार्थियों के लिए यह साईट बहुत मददगार साबित होगी, खाशकर प्रश्नोतरी से हमें प्रतियोगी परीक्षाओ में मदद मिलेगी धन्यवाद्

  • jagtar singh का संदेश:

    सर भारत के बारे में इतने विस्तार से और इतनी सहजता से जानकारी देने वाली वेबसाइट देख कर बड़ी खुशी हुई. ये जानकारी न केवल अत्यंत उपयोगी और महत्वपूरण है बल्कि विषय का प्रस्तुतीकरण व् गम्भीरता भी सरहाना के योग्य है.निशिचित ही यह ज्ञान की इच्छा रखने वाले प्रत्येक जन के लिए ज्ञान का सागर है. आशा है कि ज्ञान कि ये गंगा यूं ही अनवरत चलती रहेगी. धन्यवाद्

  • H D NADAF का संदेश:

    धन्यवाद . मुजे सूफी तत्वंयाँ पढ़कर मेरे ज्ञान में विकास हुआ आपका आभारी हूँ....

  • ashwani kumar का संदेश:

    भारतकोष वास्तव में ज्ञान का अनंत सागर है , मुझे अत्यंत हर्ष की अनुभूति हुई जब मैंने इसे देखा , सिर्फ विद्यार्थी ही नहीं ये सभी के लिए उपयोगी है I भारतकोश को अत्यंत धन्यवाद् I

  • ashwani kumar का संदेश:

    भारतकोश वास्तव में ज्ञान का अनंत भंडार है, मुझे तो ऐसा प्रतीत हो रहा है की मुझे कोई खज़ाना ही मिल गया हो I भारतकोश के संपादक महोदय बधाई के पात्र हैं , आपका प्रयास हिमालय को जीत लेने के बराबर है I

  • Chandra Deep Jain का संदेश:

    यह वेबसाइट मुझे बहुत पसंद आई है! Like this website........

  • KESHAV VERMANI का संदेश:

    श्री मान आदित्य जी ,

    जय हिंद

    श्रीमान जी ,मैं रणसिंघा के नाम से साप्ताहिक समाचार -पत्र शुरू कर रहा हूँ | इस समाचार -पत्र के माध्यम से भारतकोश को जन-जन तक ले जाना चाहता हूँ कृपा करके मेरा मार्गदर्शन करें और अपना आशीर्वाद प्रदान करें ताकि मैं भारतकोश के माध्यम से भारत माता की सेवा कर सकूं

    धन्यवाद् केशव वरमानी ३१६/१३ मुल्तानी चौक हिसार (हरियाणा ) भारत

    मोब ९२५३१३२०९९

  • Ashutosh mishra का संदेश:

    आपका भारतकोश तो हम छात्रो के लिए बहुत ही उपयोगी साबित हो रहा है विज्ञानं से सम्बंधित जानकारियो को और स्थान दीजिये

    धन्यवाद भारतकोश

    धन्यवाद

  • santosh gangele का संदेश:

    परम आदरणीय भारत कोष हिंदी वेव साईट के संचालक जी . में बहुत ह़ी काम पढ़ा हूँ लेकिन मेरा मन व लगन आज इस मुकाम तक लेकर आगई क़ि हम आपकी इस साईट तक पहुच रहे है. ईस्वर क़ि महिमा ह़ी न्यारी होती है. उसकी कृपा से ह़ी संसार का संचालन हो रहा है. आपने जो मानव जीवन के लिए जानकारिया हो सकती है. संग्रह तो क़ि है उनका लाभ आज इंटरनेट चलने वाले सभी लोग उठा सकते है. आप भारतीय संस्कृति व संस्कारो को जीवित रखने वाले ईस्वर के भेजे दूत है. आप मेरी नजर में महापुरुष है. आपका में वंदन व अभिनन्दन करने चाहता हूँ. आप पर ईस्वर क़ि महिमा क़ि बर्षा हो . संतोष गंगेल- समाज सेवक. जिला उपाध्यक्ष मध्य प्रदेश श्रेजिवी पतरकार संघ शाखा छतरपुर

  • Shiva Nand Upadhyay का संदेश:

    आदित्य जी, हिंदी और अन्य विषयों पर समृद्ध सामग्री उपलब्ध करने वाली यह साईट काफी समृद्ध है . हिंदी भाषा में ज्ञान के इस अनंत सागर की मुझे जानकारी नहीं थी . मेरे एक मित्र ने इसकी जानकारी दी. लेकिन इसे और विकसित करने की जरुरत है खास तौर से आधुनिक विज्ञान और प्रौद्योगिकी में हो रहे नवीनतम अनुसन्धान और विकास से जुडी जानकारियों से अद्यतन बनाये जाने की जरुरत है . धन्यवाद

  • Madan Shanklesha का संदेश:

    वेबसाइट बहुत अच्छी है ,इसमे अपडेट की जरुरत है |

  • राजेश कुमार साहू का संदेश:

    संपादक महोदय जी नमस्कार

    महोदय जी आपका भारत डिस्कवरी साइट निश्चित ही बेहद सराहनीय है और भारत देश के लिए गौरव की बात है कि आपने आपने इस साइट के माध्यम से गागर में सागर भरने का प्रयास किया है तथा प्रादेशिक स्तर पर बहुत सी जानकारियों की कमी जरुर है

    आशा है , भविष्य में ये कमियां जरुर पूरी हो जायेगी /

    धन्यवाद

  • suesh bishnoi jangu gudamalani barmer raj का संदेश:

    आपका यह कार्य अत्यंत प्रशंसनीय है। संपादक मंडल बधाई के पात्र है। हिंदी में काम करने वाले सभी लोगों के लिए यह एक गंगा घाट है। हार्दिक शुभ कामनाएँ।

  • ak rajput का संदेश:

    में तो समझ रहा था की ये सरकार द्वारा संचालित है. लेकिन जब ये जाना की ये एक संस्था द्वारा बहुत ही सिमित संसाधनों से चलाया जा रहा है तो आश्चर्य की सीमा नहीं रही. बहुत ख़ुशी हुई जानकर की आप जैसे लोगों में जब तक भाषाप्रेम इस कदर हावी है तब तक हिंदी अपने शिखर पे विराजमान रहेगी. बहुत बहुत धनयवाद .

  • Raj karan Mahoba का संदेश:

    भारत डिस्कवरी का बहुत बहुत धन्यवाद ज्ञान का भंडार

  • mohan thanvi का संदेश:

    श्रीमान जी सादर प्रणाम ! आपके और आपके साथियों के परिश्रम को दिल से सलाम ! साधुवाद ! मैं भारत कोष पर क्लिक करने से कतराता था क्योकि इसे सरकारी प्रचार माध्यम समझने की भूल करता था ! लेकिन जब गूगल पर एक साहित्यकार सम्बन्धी सर्च के दौरान यकायक कोष पर पहुंचा तो ज्ञान का भंडार मिला और अब ज़रूरत पड़ते ही सीधा अपनी इस साईट पर आ जाता हूँ !

  • radha krishna yadav का संदेश:

    महोदय

    मेरी जानकारी के अनुसार बैजनाथ धाम उत्तराखंड में नहीं बिहार में है.

    लेकिन यह सब जानकारी उपलब्ध करने के आप का धन्यवाद.

  • LAKHWINDER BRAR का संदेश:

    श्री मान जी आपका ये प्रयास प्रशंषा योग्य है . सामान्य ज्ञान में वृधि के लिए इस प्रकार के प्रयास बहुत जरुरी हेँ

  • gstariyal का संदेश:

    प्रिय महोदय सादर नमस्कार आप जोअमूल्य ज्ञान लोगो को दे रहे है उसके लिए हार्दिक बधाई .भविष्य के लिए हार्दिक सुभकामनाये धनयबाद

  • भारतकोश का संदेश:

    यादव जी भूल सुधार के लिए धन्यवाद ! असल में बैजनाथ और वैद्यनाथ के नाम से दो अलग-अलग लेख बने हुए थे। जो अब एक किए जा रहे हैं। एक बैजनाथ ज़िला अल्मोड़ा में भी है जिसके कारण यह भूल हुई। भविष्य में भी सुझाव देते रहिएगा।

  • shivam tripathi का संदेश:

    आप लोगों द्वारा दी जाने वाली ऐतिहासिक जानकारी विश्वशनीय अवं रोचक है

  • nandkishore arya का संदेश:

    भारत कोष का कार्य मेरे विद्यार्थियों के लिए बहुत लाभकारी सिध्द हुआ है आपका व आपकी टीम का धन्यवाद

  • राजेंद्र कृष्ण जोशी का संदेश:

    बहुत ही अच्छ्ही लगी साईट

  • गौरव सुमन का संदेश:

    नमस्ते संपादक महोदय !

    आपका वेब साईट वाकई लाजवाब व ज्ञानवर्धक है, तकनीकी रूप से भी बहुत उम्दा है | मैं भी एक इंजिनियर हूँ और यह बात समझ सकता हूँ की इस कार्य में बहुत परिश्रम व तकनीक लगा होगा | इसके लिए आप और आपकी पूरी टीम को बहुत बहुत बधाई ! यह वेब साईट दिन दुनी रात चुगनी तरक्की करे इश्वर से यही मनोकामना रहेगी | धन्यवाद् !

    गौरव सुमन

  • nemi meena का संदेश:

    aap ka yougdann adutiya ha .

  • suresh का संदेश:

    प्रशंसनीय कार्य । सुरेश

  • happy का संदेश:

    बहुत अच लगा ,,,यह dekh केर

  • Mirgendra Singh Pawar का संदेश:

    आपकी वेब साईट वाकई ज्ञानवर्धक है, तकनीकी रूप से भी बहुत ज्यादा अच्छी है | इस कार्य को करने में बहुत परिश्रम व तकनीक की आवश्यकता हुई होगी और जो कि आपको आपकी टीम के द्वारा जरुर मिला होगा और आगे भी मिलता रहेगा इसी मनो कामना के साथ आप और आपकी पूरी टीम को बहुत बहुत बधाई ! यह वेबसाइट बहुत आगे तक जाएगी ! यह मेरी ईश्वर से मनो कामना है ! धन्यवाद् !

  • Bharati Dhruw का संदेश:

    भारतकोश की पूरी टीम को नव वर्ष की हार्दिक शुभ कामनाएं ..............

  • Viral Trivedi का संदेश:

    बहोत सुन्दर और आदरणीय कार्य

  • deepankshi duharia का संदेश:

    महोदय सादर नमस्कार , मेरा सुझाव यह है क़ि अगर भारत कोश के सभी विषयों के लेखो की क्रमबद्ध तरीके से किताब बनवाई जाये तो compition students के लिए लाभकारी सिद्ध होगी क्योंकि स्टूडेंट्स के लिए सभी लेखों को एकसाथ प्राप्त करना संभव नहीं है और इससे भारतकोश की भी मदद हो सकेगी

  • भारतकोश का संदेश:

    दीपांक्षी जी आपका सुझाव सही है, आपको बहुत धन्यवाद

  • ATUL SAXENA का संदेश:

    महोदय जी आपका भारत डिस्कवरी साइट निश्चित ही बेहद सराहनीय है और भारत देश के लिए गौरव की बात है कि आपने आपने इस साइट के माध्यम से गागर में सागर भरने का प्रयास किया है

  • jitendra singh का संदेश:

    भारत कोष साईट का में नया पाठक बना हूँ. धन्यवाद

  • Ashok Kumar का संदेश:

    भारत कोष की इस साईट को देखकर आज काफी ख़ुशी मिली | धन्यवाद |

  • रतन राज का संदेश:

    भारत कोष का कार्य मेरे विद्यार्थियों के लिए बहुत लाभकारी सिध्द हुआ है, आपकी टीम को धन्यवाद

  • chandra Shekhar Sharma का संदेश:

    आपकी वेबसाइट पर धर्म के बारे में अनेक विषयो पर बहुमूल्य सामग्री उपलब्ध करवाई गई है जिसके लिए आप बधाई के पात्र है कृपा करके रामायण की पात्र उर्मिला के बारे में विस्तार से बताने का कष्ट करे

  • subhash का संदेश:

    अपकी वेबसाइट अत्यंत अच्छी है

  • लिमटी खरे का संदेश:

    हिन्‍दी को समृद्ध करने एक अदभुत और अकल्‍पनीय प्रयास आभार सभी लोगों की ओर से हिन्‍दी को इंटरनेट पर समृद्ध कर इसे मजबूती प्रदान करें

  • shalini singh chauhan का संदेश:

    राज्य की जानकारी मे कृपया उत्तर प्रदेश को भी शामिल करे...वैसे बहुत अच्छा प्रयास है ...साधुबाद...

  • mohammad naveed का संदेश:

    greeting sir

    feeling very excited to see a very good and complete hindi site thanks for the special gift

    thank u sir

  • राजेश सिंह का संदेश:

    उम्दा वेब साईट मानव अधिकारों के बारे में जानकारी यहाँ होना जरूरी है

  • ram kailash yadav का संदेश:

    माननीय आदित्य जी धन्यवाद के साथ आभारी हूँ आप का की इस तरह की वेबसाइट बना कर हम प्रतियोगियो को लाभान्वित किया है आशा है की जल्द ही और नई सामग्री पढने को मिलेगी विविध सामान्यज्ञान पर प्रश्नोतरी प्रकाशित करे धन्यवाद

  • daya kumari का संदेश:

    अच्छा प्रयास है धन्यवाद!

  • Premsingh Khara Mahechan का संदेश:

    me ko bharat kosh bahut badiya lagi or me puri dim thanku kahna chahta hu

  • jang bahadur saxena का संदेश:

    नमस्कार जी , मुझे भारत कोश बहुत पसंद आया , मै इस सुन्दर कार्य के लिए आप सब को हार्दिक बधाई देता हूँ ,

  • H R khatri का संदेश:

    इतना संग्रह एक साथ देखकर मन खुश हो गया जी ............... हार्दिक बधाई

  • vivek chaudhary का संदेश:

    this is very productive site. i really appreciate the content of this site. but i want it in english. is it possible to convert this site in english.???

  • Ramchandra का संदेश:

    भारत कोष साईट का में नया पाठक बना हूँ. धन्यवाद... भारत कोष साईट पर गए बिना चेन ही नहीं आता है. यह तो समुन्दर है.

  • ARJU UIKEY का संदेश:

    APKE DWARA DI GAYI SAMAST PRAKAR PRASHNA WALI BAHUT ACHCHHI HAI.

  • s.g.goswami का संदेश:

    डियर सर

    मै,इस वेब साईट का लगातार विगत दो वर्षों से पाठक हूँ,मै फिजिक्स का प्रोफेसर हूँ. ....

    ये वेब साईट बहुत ही अच्छी है.बस इसे अपडेट करते रहिएगा...जैसें की मुख्य न्यायधीश ३९ वें नंबर पर अल्तमस कबीर जी है तो नये के लिए थोडा कन्फ्यूजन हो सकता है....

  • gaurav singh का संदेश:

    हम आप की इस वेबसाइट से पूरी तरह से प्रभावित हुए है .यहाँ पर सभी विषयों की जो जानकारी दी हु है उसे पड़कर अपने देश विदेश की संस्कृति की जानकारी और ज्ञान लिया जासकता है .

  • विजय पी. निषाद का संदेश:

    जी, आप सभी को बहुत-बहुत धन्यवाद जो आप लोगों ने इस तरह की बेहद उपयोगी वेबसाईट को विकसित किया है, वास्तव में यह वेबसाईट तो ज्ञान का सागर है। आप लोगों का जितना भी शुक्रिया अदा किया जाए निश्चत रूप से कम होगा। आप सब की निश्वार्थ सेवा का फल परमेश्वार जरूर आप लोगों को देगा। मुझे तो जब भी समय मिलता है तो इसी वेबसाईट को खोलता हूँ, जबकि पहले खाली वक्त में फेसबुक खोला करता था, और अपना वक्त बर्बाद करता था, पर अब मैनें अपनी फेसबुक आई डी को बन्द कर चुका हूँ, और प्रयास करूँगा कि उसे कभी न खोलूँ। इस वेबसाईट को विकसित करने वालों को मेरा एक बार पुनः शुक्रिया अदा करना चाहता हूँ। धन्यवाद ।।।।।।

  • गजराज सिंह् का संदेश:

    बहुत ही जबरदस्त

  • sunil kumar dhani bazar का संदेश:

    हरिवंश राय बच्चन का लेख बहुत अच्छा लगा

  • Ravinder Bhardwaj, Narwana का संदेश:

    मैं एक कॉलेज में प्राध्यापक हूँ और आपके प्रयास की दिल से सराहना करता हूँ....भारतकोश को बहुत-बहुत शुभकामनायें.....

  • hindi shayari का संदेश:

    पहली बार कोई ब्लॉग इतनी शुद्धता से हिंदी में लिखा गया हैं! मुझे ये ब्लॉग पढ़कर अच्हा लगा और मेने इस ब्लॉग को बुकमार्क भी कर लिया है! सह:धन्यवाद्

  • dinesh kumar का संदेश:

    dear sir

    भारत कोष साईट का में नया पाठक बना हूँ. धन्यवाद... आपके प्रयास की दिल से सराहना करता हूँ बस इसे अपडेट करते रहिएगा...आशा है की जल्द ही और नई सामग्री पढने को मिलेगी वास्तव में आपकी टीम प्रशंसा व बधाई की पात्र है भारतकोश में आपने वो जानकारी दी है जो शायद दूसरी जगह खोजना कठिन हैराज्य की जानकारी मे कृपया राजस्थान को भी शामिल करे आपने आपने इस साइट के माध्यम से गागर में सागर भरने का प्रयास किया है तथा प्रादेशिक स्तर पर बहुत सी जानकारियों की कमी जरुर है

    आशा है , भविष्य में ये कमियां जरुर पूरी हो जायेगी आपका सुबचिंतक

  • YADVENDRA SINGH का संदेश:

    नमस्कार सर

    आप बहुत ही बधाई के पात्र हैं जो आपने इतना सब कुछ दिया, आप व्यंग बहुत अच्छा लिखते हैं ' वोटर और वोट्रानी' एवं 'डाकू की शोक सभा' बहुत पसंद आई ! इसमें समाज शास्त्र विषय को और जोड़ ने का प्रयास करैं !

    धन्यवाद !

  • KHEMRAJ का संदेश:

    खेमराज चंद्राकर ज्ञान का भंडार है . ऐतिहसिक . रूप से हमारी विरासत को आपने सजोया है

  • जयप्रकाश सोमई का संदेश:

    बहुत ही ज्ञानबर्धक लेख मिले इस वेबसाईट पर ....सर मनोविज्ञान विषय को और शामिल कर दीजिये...

  • Harsh Sharma का संदेश:

    सर,

    आपने ये जो भी तकनीक लगाई है बहुत ही ज्यादा फायेदेमंद है हम सभी के लिए / आपने भारत के बारे में जो कुछ भी लिखा है वो भी बहुत ही ज्यादा फायेदेमंद है हम सभी के लिए / और सबसे ज्यादा फायेदेमंद है की आपने जो इसमें सर्च बॉक्स दिया है वो आज कल अधिकतर सभी साईट में नहीं होता और अगर होता भी है तो पूर्ण तरीके से कार्य नहीं करता /

    सधन्यवाद !

  • ganesh singh marpachi का संदेश:

    नमस्कार, धन्यवाद् एक नई सुरुआत के लिए .

  • BIJENDRA SINGH का संदेश:

    Dear Sir The Bharat Discovery is a vaste resource of knowledge in Hindi. I usually visit the websight and enriches me with our heritage and cultural values in our vernacular. this is an unmatched sorce of knowledge and information in Hindi keep up

  • चन्दन शर्मा का संदेश:

    भारतकोश की टीम को नमन । प्रतियोगी परीक्षार्थियों के लिये अत्यधिक उपयोगी स्थान है ।

  • ken का संदेश:

    Why not write Hindi in India's simplest nuktaa and shirorekhaa free Gujnagari(Gujarati) script which resembles Bhojpuri script? Writing both Urdu and Hindi in Gujarati or in roman script will dissolve their past history and also revive India's old Brahmi script.Gujarati script is lot more easier to learn for foreigners than Hindi. We need more Indianized Hindi than Sanskritized or urdunized !

  • Naresh KUMAR का संदेश:

    Library science is A Best Profession But Not available Reading Matterial online orv offline so Keep me Provided.............................

  • abhiram jaiseel का संदेश:

    भारतकोश की प्रस्तुति अत्यधिक सुन्दर है .

  • abhiram jaiseel का संदेश:

    धन्यवाद

  • ABHISHEK SACHAN का संदेश:

    वास्तव में बहुत अच्छा कार्य . धन्यवाद

  • kuber singh sahu का संदेश:

    भारतकोश के बारे में पता नहीं था. संयोग से कल ही इसे जाना. कोई भी जानकारी अब मेरी पहुँच से दूर नहीं रहेगी.

    कुबरे [email protected]

    ब्लॉग- storybykuber.blogspot.कॉम

  • MOTILAL PUROHIT का संदेश:

    मैं नहीं जानता कि इतने विषयों की सामग्री और उनका सग्रह कोई अकेला या भले ही टीम कैसे कर सकती है मैंने पिछले दो महीनो से इस साईट को पढना शुरू किया है और आज तक लगातार इसे पढ़े ही जा रहा हूँ मुझे साहित्य की कोई खास जानकारी नहीं है फिर भी पढने में बहुत आनंद आता है आप सचमुच बधाई के पात्र हैं धन्यवाद

  • SUNIL KUMAR का संदेश:

    आपकी वेब साईट वाकई ज्ञानवर्धक है, तकनीकी रूप से भी बहुत ज्यादा अच्छी है | इस कार्य को करने में बहुत परिश्रम व तकनीक की आवश्यकता हुई होगी और जो कि आपको आपकी टीम के द्वारा जरुर मिला होगा और आगे भी मिलता रहेगा इसी मनो कामना के साथ आप और आपकी पूरी टीम को बहुत बहुत बधाई ! यह वेबसाइट बहुत आगे तक जाएगी ! यह मेरी ईश्वर से मनो कामना है ! धन्यवाद् !

  • देवेन्द्र प्रसाद पाण्डेय का संदेश:

    भारतकोश प्रबंधन टीम को शत शत धन्यवाद देना चाहूंगा! भारतकोश के माध्यम से राजनितिक,सामाजिक, आर्थिक, एतिहासिक, साहित्यिक से लेकर तमाम तरह की जानकारियाँ मिलती हैं और ज्ञान का असीमित भण्डार मिलता है , मैं भारतकोश का नियमित पाठक हूँ , इसमें सर्वाधिक समय मेरा साहित्योक कृतियाँ तथा साहित्य सम्बन्धी समस्त जानकारियों को अध्यन करने जता है , और ह्रदय को तृप्ति भी मिलती है इसके साथ ही ज्ञान की ग्रंथि और भी विस्तृत होती जाती है , पुनः भारतकोश संपादक एवं समस्त प्रबंधन समिति को मेरा प्रणाम !

  • shankar goyal का संदेश:

    महोदय , आपके द्वारा भारतकोश के माध्यम से हमारी बहुत सारी मनोकामनाएं और जिज्ञासाएं पूरी हो रही है जिसके लिए आप और आपके साथी साधुवाद के पात्र है आप निरंतर हिंदी भाषा कि सेवा करते रहे यही हमारी शुभकामानएं है |

  • shekhar choudhary का संदेश:

    गुरु जी

    नमस्कार, सबसे पहले आपका बहुत बहुत धन्यवाद जो कि ईमेल पाठको के लिए इतना अच्छा लेख संग्रह तैयार किया मैं एक आपकी साईट का पाठक हूँ मैं हिंदी साहित्य का छात्र हूँ मैंने आपके बहु विकल्पी प्रश्नो को पढ़ा जहाँ अज्ञेय को कठिन काव्य का प्रेत बताया गया हैं जो मेरी दृष्टि से केशवदास होना चाहिए क्योकि केशव को शुक्ल जी ने कठिन काव्य का प्रेत कहा था

    धन्यवाद

  • Shekhar का संदेश:

    Sir Namste

    main aapka bahut aabhary hu ki aapne hame itni aachchi samgri pradan कि min aasha karata hu ki aap rajasthan sambandhi janakari adhik se adhik upload करेंगे

    thank you

  • hemraj का संदेश:

    भारत कोष के माध्यम से हमें बहोत रोचक जानकारी मिलरहिहे ,

  • neetesh sharma का संदेश:

    मैं आपका बहुत आभारी हूकि आपने मुझे इतनीअच्छी सामग्री प्रदान कि है मैं बहुत खुश हू और मुझे पड़ने में बहुत अच्छा लग रहा है मैं आशा करता हू कि आप भारत का संविधान अपलोड करे

  • Kumar Hemendra का संदेश:

    अद्भुत ज्ञान का असीम भंडार है यह

  • deepak patadia का संदेश:

    आभार ,बहुत ही अच्छी जानकारी मिल पा रही हे भारत कोष द्वारा।

  • sunil prajapati का संदेश:

    नमस्कार जी , मुझे भारत कोश बहुत पसंद आया ,मैं इस सुन्दर कार्य के लिए आप सब को हार्दिक बधाई देता हूँ। होली के शुभ अवसर पर आप सबकी हार्दिक शुभकामना करता हूँ।

  • Rupesh का संदेश:

    लगता है भारत के बहुत से धर्माचार्यों को पुनः हिंदू धर्मं के विषय में कहीं से शिक्षा लेनी चाहिए और हमें पुनः एकाकृत करना चाहिए .........

  • Dinesh Singh का संदेश:

    भारत कोश एक बहुत ही खूबसूरत साईट है .जहाँ हिंदी की बहुत रोचक जानकारी मिलती है

  • भास्कर ठकरोड का संदेश:

    मुझे यह कार्यक्रम बहुत ही पसंद आया. आपसे मेरा एक अनुरोध है की कुछ जानकारी अद्ययावत होनी जरूरी है.

  • भास्कर ठकरोड का संदेश:

    मुझे यह कार्यक्रम बहुतही पसंद आया. आपसे मेरा एक अनुरोध है की कूछ जानकारी अद्ययावत होनी जरूरी है.वरव

  • K.R. CHOUDHARY का संदेश:

    जय भारत माता की ........

    जैसा की नाम से विदित होता है यह भारत के ज्ञान प्राप्त के लिए एक सम्पूर्ण अतुलनीय प्रयास है जो प्रत्येक जन के अति लाभकारी सिद्ध होगा

    इसके लिए पूरी भारत टीम को बहुत बहुत धन्यवाद ...........कोटि कोटि धन्यवाद ...........

  • देवकरण पाण्‍डेय का संदेश:

    नमस्कार, सबसे पहले आपका बहुत बहुत धन्यवाद जो कि ईमेल पाठको के लिए इतना अच्छा लेख संग्रह तैयार किया मैं एक आपकी साईट का पाठक हूँ मैं हिंदी साहित्य का छात्र हूँ मैंने आपके बहु विकल्पी प्रश्नो को पढ़ा जहाँ अज्ञेय को कठिन काव्य का प्रेत बताया गया हैं जो मेरी दृष्टि से केशवदास होना चाहिए क्योकि केशव को शुक्ल जी ने कठिन काव्य का प्रेत कहा था

  • chandan kumar का संदेश:

    यह बहुत ही सराहनीय कार्य है . इसे देख कर मुझे काफी ख़ुशी मह्शूश हो रही है. इतनी बड़ी ख़ुशी देने का लिए आप लोगो को हमारी तरफ सा शुभ कामनेये.

  • rinki का संदेश:

    ये बहुत हीं अच्छी साईट है यहाँ हिंदी से जुड़ी हुई साडी सामग्री मोजूद है. thanku

  • सचिन प्रकाश विश्नोई का संदेश:

    आपका प्रयास सराहवीय है

  • Annu का संदेश:

    आपके वेबसाईट में जो छत्तीसगढ की जानकारी दी गई वह यदि छत्तीसगढ में बने नवीन जिलों के आधार पर हो ताे जानकारी लेने में समस्या नहीं होगी क्योंकि छत्तीसगढ में 9 नये जिलो की स्थापना की गई है जिसके कारण बहुत से जानकारी संबंधित जिलो में न होकर अपने पुरे जिले में दिखाई जा रही है कृपया नये जिलो के आधार पर जानकारी अपलोड करने की कृपा करे

  • ravikumar का संदेश:

    सर आपकी वेबसाइट इतनी अच्छी है कि कहने के लिए शब्द कम हो जाते है। मेैने आपकी वैब के सभी प्रश्न डाउनलोड कर लिए है रोजाना पढ़ता हूँ धन्यवाद।

  • K.P.SINGH का संदेश:

    आपके इस ज्ञान सागर को पहली बार देख रहा हूँ बहुत ही उपयोगी है जो हमें उन अछूते ज्ञान को मेरे सामने रख कर मेरे जीवन को चकित कर रहा हे.....बहुत ही सुन्दर और ज्ञान पूर्ण है ये भारत कोष. श्रीमान जी में अपने कुछ रचनायें भी आपके इस भारत कोष के माध्यम से जान जान तक प्रेषित करना चाहता हूँ .....इस के लिए हमें क्या करना होगा. मेरी मदद करे

  • v i n e s h का संदेश:

    भारत डिस्कवरी .ऑर्ग वहुत ही अच्छा सर्च इंजन है

  • दिपक राठाैड का संदेश:

    भारत कोश बहुत ही महत्‍वपुर्ण जानकारीयो का खजाना हैा इसकी तारीफ के लिए हमारे पास शब्‍द ही नही हैा हमे आईएस परीक्षा हेतु भुगोल तथा विश्‍व विख्‍यात अि‍र्थक स्थितियो व इनसे संबधि‍त‍ जानकारीयो का खजाना उपलब्‍ध करावेा भारत कोश टीम को बहुत बहुत धन्यवाद

  • Akshay Sharma का संदेश:

    भारत कोश एक बहुत ही खूबसूरत साईट है। जहाँ हिंदी की बहुत रोचक जानकारी मिलती है. परंतु मे चाहता हु कि आप इस भारत कोश मे ह्मारी देश कि सेवा मे मुख्य भुमिका निभाने वाले वीर सेनिको के बारे मे भि लिखे ओर कहा इंनके विभाग हे केसे इंंनसे जुडा सकता हे. इस तरह कि जांकारि भि इस भारत कोश मे शामिल करने कि क्रपा करे ताकि अधिक से अधिक देशवाशि देश कि सेना का योगदान ओर सेना कि शक्ति के बारे मे ज्ञान अर्जित कर सके........ आप से आसा हे कि एसि जांकारि जल्द ह्मे प्रदान हो सकेगि!

  • MUKESH DUBEY का संदेश:

    यह बहुत अच्छा मिशन है जिससे हम आने ज्ञान को सतत प्रगतिशील कर सकते है. हम इस WEBSIGHT से जुड़े सभी लोगो को ध्यनयाबाद देता हु \

  • Amir Khan का संदेश:

    gud site

  • krishna saini baksar unnao का संदेश:

    सम्माननीय भारतकोश टीम मै आप लोगो को दिल से धन्यवाद देना चाहूंगा की आप लोगो ने बिना किसी सरकारी सहायता से ज्ञान का ऐसा सागर तैयार किया है जो अपने आप में अनोखा है|मै ने जब पहली बार इस साइट को देखा तो मुझे विस्वास ही नहीं हुआ की इंटरनेट में ऐसी भी साइट हो सकती है जिसमे इतना सारा मैटर हो सकता है वो भी हिंदी में|

  • Beloo Mehra का संदेश:

    आपका कार्य अत्यंत प्रशंसनीय है . इस वेबसाइट पर ज्ञान का भंडार है जो हमें सामान्यता भारत सम्बन्धी अन्य साइट्स पर नहीं मिलता. इस वेबसाइट के बारे में मैंने अपने ब्लॉग पर कुछ लिखा था, जिसका लिंक संलग्न है - http://letbeautybeyourconstantideal.blogspot.in/2014/10/do-you-know-hindi.html धन्यवाद और शुभकामनायों के साथ - बेलू मेहरा

  • Hitesh Kumar Lodah का संदेश:

    आपकी साइट अच्छी लगी मेने इसे पहली बार पड़ा हे और आगे भी पड़ता रहूँगा धन्यवाद |

  • Hitesh Kumar Lodha का संदेश:

    आपकी साइट अच्छी लगी मेने इसे पहली बार पड़ा हे और आगे भी पड़ता रहूँगा धन्यवाद | शुभ रात्रि

  • DILIP KUMAR YADAV का संदेश:

    इस वेबसाइट पर दी जाने वाली जानकारी बहुत उपयोगी ह , आपका संकलन बहुत अच्छा ह , आपका कार्य बहुत अच्छा लगा. इसके लिए आप को थैंक्स .

  • ARUNDEP का संदेश:

    धन्यवाद आपका हमारा ज्ञान बढ़ाने के लिए

  • मोनू कुमार का संदेश:

    जय हिंद ,जय मात्र भाषा

    मात्र भाषा से हमारा जीवन है

    इसका सममान भारत की पहचान है

  • kerai shanta का संदेश:

    भारत कोश एक बहुत ही खूबसूरत साईट है इसके द्वारा हम अपने सामान्य ज्ञान को बढ़ा सकते है.

  • RAJESH BHARTI का संदेश:

    भारत डिस्कवरी साइट स्टूडेंट के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है !

  • Abraham Gani का संदेश:

    आज छत्तीसगढ के पन्ने के भूगोल के विषय में पढ. रहा था तो ज्ञात हुआ कि जानकारी अपडेट नहीं है, संभागों की संख्या बढ् गई है, जिले नये बन गये है, जो परिवर्तनीय है कृपया अपडेट होते रहे तो इन्टनेशनल लेवल में पढा जाने वाला जानकारी उचित होगा। वैसे जानकारी उपयोगी है। धन्यवाद।

  • जयप्रकाश नारायण का संदेश:

    भारतकोष अपार जानकारियों का सागर है । इसे अपना कीमती समय देकर हमारे बीच रखने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद ।

  • आकाश निगम का संदेश:

    भारतीय इतिहास और हिन्दु धर्म का गहरा विवरण है!

  • Shakti Patel का संदेश:

    प्रशंसनीय और अद्भुत कार्य .....

  • औमेश्वर नारायण का संदेश:

    भारतकोश एक महासागर की तरह है.काश मुझे पहले इस बारे में पता होता .खैर देर आए दरुस्त आए .मेरे ख्याल में हर विद्यार्थी को चाहिए कि हमें अपने भारत के इतिहास और अन्य जानकारी के लिए इसका प्रयोग और प्रचार ज़रूर करना चाहिए .

अपना संदेश दें (Leave a comment)

To type in English press Ctrl+G अंगेज़ी में टाइप करने के लिए Ctrl+G दबाएँ।

हिन्दी टाइप कैसे करें

Trans-help.jpg
  • ऊपर दिये गये बक्से में आप अंग्रेज़ी अक्षरों में टाइप कीजिये।
  • एक शब्द टाइप करने के बाद 'स्पेस बार' दबाएँ। अब आपके द्वारा लिखा गया शब्द हिन्दी में बदल जाएगा।
  • अब यदि हिन्दी में बदला शब्द आपकी इच्छानुसार नहीं है तो Back-space.jpg दो बार दबाएँ और सही शब्द चुनें।
  • हिन्दी के लिए आपको हर शब्द के बाद स्पेस दबाना होगा। याद रखिए आख़िरी शब्द के बाद भी…
  • उदाहरण के लिये यदि आप "bharat" टाइप करेंगे और स्पेस दबाएंगे तो यह "भारत" में बदल जाएगा।

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः