भूरिषेम  

भूरिषेम महाराज शर्याति के पुत्र थे।[1]

  • वैवस्वत मन्वन्तर की प्रथम चतुर्युगी के सतयुग में वैवस्वत मनु के वंश में महाराज शर्याति हुए थे। उनके तीन पुत्र थे-
  1. उत्तानबर्हि
  2. आनर्त
  3. भूरिषेम

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. भगवान वासुदेव -सुदर्शन सिंह चक्र पृ. 272 (हिंदी) hi.krishnakosh.org। अभिगमन तिथि: 28 जनवरी, 2017।

संबंधित लेख

"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=भूरिषेम&oldid=583307" से लिया गया