मरल मछली  

Icon-edit.gif इस लेख का पुनरीक्षण एवं सम्पादन होना आवश्यक है। आप इसमें सहायता कर सकते हैं। "सुझाव"

मरल मछली केनाइडी कुल की मछली है, जो ताज़े पानी में पाई जाने वाली मछलियों की प्रजातियों में से एक है। यह अफ़्रीक़ा और एशिया में पाई जाती है। लंबे और तक़रीबन बेलनाकार शरीर वाली मरल का मुंह बड़ा व लंबा होता है।

  • मरल मछली के शरीर पर एक लंबा पृष्ठ और गुदा पंख भी पाया जाता है।
  • इसकी लंबाई तक़रीबन 10 से 90 सेन्टीमीतर तक होती है।
  • यह मछली पानी से ऊपर हवा में भी गलफड़ों के पास स्थित संवहन गुहिका की मदद से सांस ले सकती है।
  • मरल मछली पानी से बाहर लंबे समय तक बिना किसी परेशानी के जीवित रह लेती है।
  • प्रोटीन का अच्छा स्रोत होने के कारण इसका इस्तेमाल भोजन के रूप में भी होता है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध


टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=मरल_मछली&oldid=276818" से लिया गया