यमदीप दान  

  • कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी को रात्रि हो जाने पर घर के बाहर 'दीपदान' किया जाता है।
  • इससे आकस्मिक मृत्यु से रक्षा होती है।[1]; [2]


टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. पुरुषार्थचिन्तामणि (231
  2. स्मृतिकौस्तुभ (368

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=यमदीप_दान&oldid=189277" से लिया गया