यम चतुर्थी  

Disamb2.jpg यम एक बहुविकल्पी शब्द है अन्य अर्थों के लिए देखें:- यम (बहुविकल्पी)
  • शनिवार एवं भरणी नक्षत्र में पड़ने वाली चतुर्थी पर यम पूजा की जाती है।
  • इस पूजा से सात जन्मों तक पापों से मुक्ति हो जाती है। [1]; [2]
  • यम भरणी नक्षत्र का स्वामी है।

 

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. हेमाद्रि (व्रत0 1, 523-524
  2. पुरुषार्थ चिन्तामणि (95, कूर्म पुराण से उद्धरण

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=यम_चतुर्थी&oldid=189255" से लिया गया