योजक चिह्न  

हिन्दी भाषा में इस चिह्न (-) का प्रयोग निम्नलिखित परिस्थितियों में किया जाता है-

  1. सामाजिक पदों या पुनरुक्त और युग्म शब्दों के मध्य किया जाता है; जैसे- जय-पराजय, लाभ-हानि, दो-दो, राष्ट्र-भक्ति।
  2. तुलनावाचक 'सा', 'सी', 'से', के पहले; जैसे=चाँद-सा चेहरा, फूल-सी मुस्कान।
  3. द्वित्व और शब्द युग्म जैसे- कभी-कभी खाते-पीते।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=योजक_चिह्न&oldid=286078" से लिया गया