विमाएं  

भौतिक राशियों के व्युत्पन्न मात्रक निकालने के लिए मात्रकों पर जो घातें लगानी पड़ती हैं, उन्हें उस राशि की विमाएँ कहते हैं। यदि किसी राशि की विमाएँ लम्बाई में , द्रव्यमान में , समय में तथा ताप में हो तो उस राशि की विमाओं को निम्नलिखित प्रकार से प्रदर्शित किया जाता है—

( )

उपर्युक्त सूत्र को इस राशि का विमीय सूत्र कहते हैं।

प्रमुख भौतिक रशियों के विमीय सूत्र
व्युत्पन्न भौतिक राशि अन्य भौतिक राशियों से सम्बन्ध विमीय सूत्र
क्षेत्रफल लम्बाई चौड़ाई L2
आयतन लम्बाई चौड़ाई मोटाई L3
वेग विस्थापन / समय LT-1
त्वरण वेग परिवर्तन / समय LT-2
आवेग बल समय MLT-1
बल द्रव्यमान त्वरण MLT-2
कार्य बल विस्थापन ML2T-2
शक्ति कार्य / समय ML2T-3
घनत्व द्रव्यमान / आयतन ML-3
संवेग द्रव्यमान वेग MLT-1
दाब बल / क्षेत्रफल ML-1T-2
बल आघूर्ण बल दूरी ML2T-2
प्रतिबल बल / क्षेत्रफल ML-1T-2
विकृति लम्बाई में वृद्धि / प्रारम्भिक वृद्धि L0
पृष्ठ तनाव बल / लम्बाई MT-2
कोणीय वेग कोण / समय T-1
जड़त्व आघूर्ण द्रव्यमान (दूरी)2 ML2
कोणीय संवेग जड़त्व आघूर्ण कोणीय वेग ML2T-1

अदिश राशियाँ

जिन भौतिक राशियों को पूर्णतः निरूपित करने के लिए केवल परिमाण की आवश्यकता होती है, दिशा की नहीं, उन्हें अदिश राशियाँ कहते हैं।

सदिश राशियाँ

जिन भौतिक राशियों को पूर्णतया निरूपित करने के लिए परिमाण के साथ–साथ दिशा की भी आवश्यकता पड़ती है, उन्हें सदिश राशियाँ कहते हैं।  

पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=विमाएं&oldid=223654" से लिया गया