विषुवत रेखा  

विषुवत रेखा या 'भूमध्य रेखा' पृथ्वी की सतह पर उत्तरी ध्रुव एवं दक्षिणी ध्रुव से सामान दूरी पर स्थित एक काल्पनिक रेखा है। यह पृथ्वी को दो गोलार्द्धों, उत्तरी और दक्षिणी गोलार्द्ध में विभाजित करती है।

  • दूसरे शब्दों में पृथ्वी के केंद्र से सर्वाधिक दूरस्थ भूमध्यरेखीय उभार पर स्थित बिन्दुओं को मिलाते हुए ग्लोब पर पश्चिम से पूर्व की ओर खींची गई कल्पनिक रेखा को 'भूमध्य' या 'विषुवत रेखा' कहते हैं।
  • इस रेखा पर प्राय: वर्षभर दिन और रात की अवधि बराबर होती है।
  • यही कारण है कि इसे विषुवत रेखा या भूमध्य रेखा कहा जाता है।
  • अन्य ग्रहों की विषुवत रेखा को भी सामान रूप से परिभाषित किया गया है।
  • विषुवत रेखा के उत्तरी ओर 23½° में कर्क रेखा है व दक्षिणी ओर 23½° में मकर रेखा है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=विषुवत_रेखा&oldid=287705" से लिया गया