शौक़त अली  

शौक़त अली भारतीय मुसलमानों के नेता और प्रसिद्ध राजनीतिज्ञ थे। इनका जन्म वाराणसी के निकट रायपुर में 1873 ई. में हुआ था। इन्होंने ख़िलाफ़त आन्दोलन का नेतृत्व किया और साथ ही गाँधीजी के असहयोग आन्दोलन में भी भाग लिया था।

  • शौक़त अली ने अपना जीवन भारतीय अंग्रेज़ सरकार के 'आबकारी विभाग' से प्रारम्भ किया था।
  • इस विभाग में इन्होंने कुल 15 वर्षों तक नौकरी की।
  • इसके बाद वे राजनीतिक क्षेत्र में उतर आये और अंग्रेज़ सरकार ने प्रथम महायुद्ध में उन्हें नज़रबन्द रखा।
  • छूटने पर अपने भाई मुहम्मद अली के साथ उन्होंने 1919-1920 ई. में ख़िलाफ़त आन्दोलन का नेतृत्व किया।
  • वे भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के भी सदस्य हुए और असहयोग आन्दोलन में भाग लिया।
  • इसके उपरान्त उन्होंने कांग्रेस से त्यागपत्र दे दिया और मुस्लिम लीग के सदस्य बनकर उसी के प्रतिनिध के रूप में गोलमेज सम्मेलन में भाग लिया।
  • 1934 ई. में ये भारतीय केन्द्रीय असेम्बली के सदस्य चुने लिये गए, लेकिन इसके बाद ही मुहम्मद अली जिन्ना मुस्लिम राजनीतिक क्षितिज पर छा गये।
पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

भारतीय इतिहास कोश |लेखक: सच्चिदानन्द भट्टाचार्य |प्रकाशक: उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान |पृष्ठ संख्या: 456 |


टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=शौक़त_अली&oldid=232415" से लिया गया