संयाति  

संयाति राजा नहुष के छ: पुत्रों में से तीसरे पुत्र थे।[1][2] राजा नहुष छ: प्रियवादी पुत्रों के पिता बने थे, जिनके नाम इस प्रकार हैं-

  1. यति
  2. ययाति
  3. संयाति
  4. आयाति
  5. अयाति
  6. ध्रुव[3]
  • यति ने राज्य की इच्छा नहीं की, अत: इनके छोटे भाई ययाति राजा हुए थे।[4]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. महाभारत आदिपर्व 75.30-31
  2. पौराणिक कोश |लेखक: राणा प्रसाद शर्मा |प्रकाशक: ज्ञानमण्डल लिमिटेड, वाराणसी |संकलन: भारत डिस्कवरी पुस्तकालय |पृष्ठ संख्या: 507 |
  3. कहीं-कहीं ध्रुव के स्थान पर 'कृति' नाम भी मिलता है।
  4. विष्णुपुराण 4.10.1-2

संबंधित लेख

"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=संयाति&oldid=547276" से लिया गया