संवर्तक  

Disamb2.jpg संवर्त्तक एक बहुविकल्पी शब्द है अन्य अर्थों के लिए देखें:- संवर्त्तक (बहुविकल्पी)
Icon-edit.gif इस लेख का पुनरीक्षण एवं सम्पादन होना आवश्यक है। आप इसमें सहायता कर सकते हैं। "सुझाव"
  1. संवर्तक सूर्य के अनेक नामों से एक नाम है।
  2. संवर्तक एक अग्नि है, जो महाप्रलय के समय समस्त प्राणियों को जलाकर खाक कर देता है।
  3. संवर्तक कश्यप और कद्रू से उत्पन्न एक काद्रवेय नाग का नाम है।[1]
  4. संवर्तक श्रीकृष्ण के भाई बलराम का एक नाम है।[2]
  5. संवर्तक बलराम के हल का नाम है।[3]
  6. संवर्तक माल्यवान पर्वत पर सदा प्रज्वलित रहने वाले अग्निदेव का नाम है।[4]



टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. महाभारत आदिपर्व 35.10
  2. भागवत पुराण
  3. भागवत पुराण
  4. महाभारत भीष्म पर्व 7.27.28

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=संवर्तक&oldid=551671" से लिया गया