समुद्र व्रत  


टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. हेमाद्रि (व्रत खण्ड 2, 464-465, विष्णुधर्मोत्तरपुराण 3|160|1-7 से उद्धरण
  2. वायु पुराण 49|123
  3. कूर्मपुराण 1|45|4

संबंधित लेख

"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=समुद्र_व्रत&oldid=188767" से लिया गया