सुकृततृतीया व्रत  


टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. ऋग्वेद 1|154|1) एवं 'सक्तुभिव' (ऋग्वेद 10|72|2); व्रतराज (101-103

संबंधित लेख

"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=सुकृततृतीया_व्रत&oldid=188717" से लिया गया