सुविज्ञ शर्मा  

सुविज्ञ शर्मा
सुविज्ञ शर्मा
पूरा नाम सुविज्ञ रामकृष्ण शर्मा
प्रसिद्ध नाम सुविज्ञ शर्मा
जन्म 28 जुलाई 1983
जन्म भूमि जयपुर, राजस्थान, भारत
अभिभावक पिता- आर. के. शर्मा, माता- मीनाक्षी शर्मा
पति/पत्नी चारु शर्मा (2005 वर्तमान)
कर्म भूमि मुम्बई
कर्म-क्षेत्र चित्रकार
विद्यालय महराजा सवाई मानसिंह विद्यालय
भारतीय विद्या भवन विद्याश्रम
भवानीपुर एजुकेशन सोसायटी कॉलेज
सिम्बिओसीस आंतरराष्ट्रीय विश्वविद्यालय
पुरस्कार-उपाधि भारत गौरव सम्मान, (2012)
प्रसिद्धि चित्रकार
नागरिकता भारतीय
अन्य जानकारी मार्च, 2015 में सुविज्ञ शर्मा, बालिकाओं को शिक्षित करने के एक नेक काम के लिए, प्रमुख टेलीविजन और बॉलीवुड हस्तियों के साथ, स्माइल फाउंडेशन के एक शो का शुभारम्भ करते हुए रैम्प पर चले।
बाहरी कड़ियाँ सुविज्ञ शर्मा
अद्यतन‎

सुविज्ञ शर्मा (अंग्रेज़ी: Suvigya Sharma, जन्म: 28 जुलाई, 1983) एक भारतीय कलाकार, चित्रकार और उद्यमी हैं, जिन्हें अपनी लघु-चित्रों, तंजौर पेंटिंग, फ्रेस्को वर्क और सजीव चित्रों के लिए जाना जाता है। भारत की प्रसिद्ध वास्तुकला धरोहर स्थानों जैसे जयपुर में सिटी पैलेस एवं जामा मस्जिद सहित अनगिनत पुनर्नवीकरण और फ्रेस्को पेंटिंग प्रोजेक्ट्स का श्रेय उनको जाता है। उन्हें प्रतिष्ठित भारत गौरव अवार्ड, 2012 से सम्मानित किया गया है।

एसएमएस और विद्याश्रम स्कूल से पढ़े 32 वर्षीय सुविज्ञ के क्लाइंट्स में बॉलीवुड सेलिब्रिटीज तो हैं ही, देश की टॉप बिजनेस फैमिलीज भी शामिल हैं। टॉप बि जनेस फैमिली में एल.एन. मित्तल, अंबानी, बिड़ला, बरमन्स, सिंघानिया, पीरामल और बजाज बिजनेस फैमिल ी भी शामिल हैं। बजाज के पूर्वजों के पोर्ट्रेट तैयार कि ए, वहीं एल.एन. मित्तल कपल पोर्ट्रेट आैर अंबानी फैमिली के पोर्ट्रेट भी वे तैयार कर चुके हैं। साथ ही सिंगापुर आर्ट म्यूजियम को भी रेस्टो र कर चुके हैं। जयपुर के सिटी पैलेस म्यूजियम के कुछ हिस्से , उदयपुर और किशनगढ़ की हवेलियाें, जैन टेंपल, जामा मस्जिद गोल्ड लिफिंग का आर्ट वर्क भी सुविज्ञ ने ही कि या है।

इनके कला-कार्य भारत के कई प्रसिद्ध घरानों, जैसे कि बजाज, बिड़ला और सिंघानिया, अंबानी, पिरामल, मित्तल और बर्मन के निजी संग्रह में एक प्रतिष्ठित स्थान रखते हैं। भारत में लघु कला की विरासत को विकसित करने और बढ़ावा देने वाले ये एकमात्र कलाकार है।

इनकी कलाकृतियाँ मारवाड़ इंडिया, सोसायटी, हैलो, सैवी, डीएनए, मिड डे, और टाइम्स ऑफ इंडिया आदि जैसी कई प्रतिष्ठित पत्रिकाओं और समाचार पत्रों में चित्रित की गई हैं. सुविज्ञ का काम सिमरोज़ा आर्ट गैलरी, चित्रकूट आर्ट गैलरी, चेन्नई आर्ट गैलरी, आर्टीसन्स आर्ट गैलरी में प्रदर्शित किया गया है सितंबर, 2014 में, सुविज्ञ शर्मा ने 24 कैरेट सोने से अलंकृत औपनिवेशिक स्टांप पेपर चित्र प्रस्तुतकरता हुआ अपना कलासंग्रह, एन आर्ट कलेक्टर्स पैराडाइज़, प्रदर्शितकिया, जिसका अनावरण बॉलीवुड अभिनेत्री रानी मुखर्जी द्वारा किया गया है।

आरम्भिक जीवन

सुविज्ञ शर्मा का जन्म भारत के एक राज्य, राजस्थान के जयपुर में, श्री आर. के. शर्मा, जो कि एक कलाकार हैं और श्रीमति मीनाक्षी शर्मा, जो गृहिणी हैं, के सुपुत्र के रूप में हुआ। उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा जयपुर के महाराजा सवाई मानसिंह स्कूल और भारतीय विद्या भवन के विद्याश्रम से प्राप्त की। इसके बाद वे भवानीपुर एजुकेशन सोसाइटी कॉलेज, कोलकाता में स्नातक शिक्षा पूरी करने के लिए गए। उन्होंने सिम्बायोसिस अंतर्राष्ट्रीय विश्वविद्यालय, पुणे से विदेश व्यापार एवं निर्यात प्रबंधन का अध्ययन भी किया। सुविज्ञ ने लोगों की तस्वीरें या अपने आस पास मौजूद चीज़ों के चित्र बनाने शुरू कर दिए थे, जब वे केवल 7 साल के थे।

सुविज्ञ का विवाह चारू शर्मा से हुआ है, जो एक ग़ैर सरकारी संगठन (ऐन जी इओ) चलाती हैं, जिसके द्वारा समय-समय पर जयपुर के पास के गांव में कला शिविरों का आयोजन किया जाता है। इस तरह दोनों जीवनसाथी, इन दूरदराज के क्षेत्रों की युवा लड़कियों और महिलाओं को, कला क्षेत्र में अपनी प्रतिभा को पहचानने में मदद करते हैं। इस युगल दंपत्ति का एक बेटा है जिसका नाम है अभिज्ञ।

करियर

इनका काम ग्रेट इंडियन रीगल कला की विरासत को दर्शाता है, जो कि एक समकालीन शैली में अतीत की विरासत को पुनर्निर्मित करता है। उनकी कृतियाँ भारत के प्रमुख शाही परिवारों के वारिसों के लिए निर्मित की गयी विलासपूर्ण कला और जीवनशैली का एक दुर्लभ नज़ारा दोहराती हैं। सुविज्ञ, पारखियों को बेहद शाही स्पेसेस में पुनर्रनिर्मित नज़ाकत भरे कलात्मक उत्पादों का साक्षी बनने का एक शानदार अवसर प्रदान करते हैं। सुविज्ञ के ग्राहकों में न सिर्फ़ शाही परिवार, बल्कि कुलीन ग्राहक भी हैं। सुविज्ञ ने देश के लगभग सभी शीर्ष घरानों पर चित्रकारी की है, जिनमें शामिल हैं अंबानी, पिरामल, ऐल. ऐन. मित्तल, बिड़ला, बर्मन, सिंघानिया और बजाज परिवार। व्यापारिक घरानों के इलावा, बॉलीवुड में भी कुछ ग्राहक और प्रशंसक हैं, जिनमें शामिल हैं प्रियंका चौपड़ा, रानी मुखर्जी और आदित्य चौपड़ा।

सुविज्ञ शर्मा फ्रेस्को वाल पेंटिंग्स, प्योर स्टर्लिंग सिल्वर, सैंडलवुड और मकराना मार्बल से निर्मित मंदिरों, औद्योगिक व सेलिब्रिटी उपहारों और सम्बंधित कार्यों की डिज़ाइनिंग में भी माहरत रखते हैं। वे दुनिया भर में यात्राएँ कर चुके हैं और इंग्लैंड में,लंदन और ससेक्स, जहाँ उन्होंने अपनी पेंटिंग प्रदर्शनी और कार्यशालाओं का आयोजन किया, कला प्रेमियों का ध्यान आकर्षित किया है।इस दरम्यान, उन्होंने अपने काम को भारत के सभी महानगरों और सभी जानी-मानी कला दीर्घाओं में प्रदर्शित किया है। सुविज्ञ की रंगकारी जयपुर और अन्य महत्वपूर्ण स्थानों जैसे उदयपुरकिशनगढ़ की हवेलियों, जामा मस्जिद की गोल्ड लीफ़िंग, सिटी पैलेस जयपुर के कुछ हिस्सों, बंगलों, दरगाह, भारत के विभिन्न हिस्सों की विरासती संपत्तियों में देखी जा सकती है। वे इसके लिए कार्यशालाएं भी आयोजित करते हैं। पुराने रस्ते का अनुसरण करते हुए, उनकी पेंटिंगों में इस्तेमाल किए जाने वाले सारे रंग 100% प्राकृतिक वनस्पति डाईज़, वनस्पतियों और सभी कुदरती रत्नों जैसे पन्ना, नीलम और हीरे से निर्मित होते हैं।

एन आर्ट कलेक्टर्स पैराडाइज़

सितंबर, 2014 में, कलाकार सुविज्ञ शर्मा ने, 24 कैरेट सोने से अलंकृत औपनिवेशिक स्टांप पेपर चित्र प्रस्तुत करता हुआ अपना अपना नवीनतम कलासंग्रह, एन आर्ट कलेक्टर्स पैराडाइज़ प्रदर्शित किया, जिसका अनावरण अभिनेत्री रानी मुखर्जी द्वारा सिमरोज़ा आर्ट गैलरी पर मुंबई में किया गया।

सुविज्ञ ने 4D प्रभाव के साथ, सिद्धिविनायक की एक बेहद दिलचस्प महाआकार पेंटिंग अनावरित की, मानों 24 कैरेट सोने, चांदी और अर्द्ध-बहुमूल्य रत्नों में देवा साक्षात सामने हों, साथ ही 100% नायाब स्टांप पेपरों पर 22 विशिष्ट स्वर्ण चित्रों का एक संग्रह भी। पूरे भारत में यह एकमात्र 4 D पेंटिंग है। इनकी प्रदर्शनी में, अभिजात और प्रमुख हस्तियाँ जैसे श्याम सिंघानिया, मिकी मेहता, छाया मोमाया, फीरोज़ा गोदरेज और अनंगशा बिस्वास की मौजूदगी देखी गई।

सम्मान

सुविज्ञ शर्मा को 29 की युवा उम्र में भारत गौरव पुरस्कार 2012 से सम्मानित किया गया था।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=सुविज्ञ_शर्मा&oldid=634010" से लिया गया