हनुमानगढ़ी  

हनुमानगढ़ी नैनीताल में स्थित एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। हनुमानगढ़ी सैलानी, पर्यटकों और धार्मिक यात्रियों के लिए विशेष, आकर्षण का केन्द्र हैै। यहाँ से पहाड़ की कई चोटियों के और मैदानी क्षेत्रों के सुन्दर दृश्य दिखाई देते हैं। हनुमानगढ़ी के पास ही एक बड़ी वेद्यशाला है। इस वेद्यशाला में नक्षत्रों का अध्ययन किया जाता है। राष्ट्र की यह अत्यन्त उपयोगी संस्था है। नैनीताल की सौन्दर्य सुषमा अद्वितीय है। नैनीताल नगर भारत के प्रमुख नगरों से जुड़ा हुआ है। उत्तर - पूर्व रेलवे स्टेसन काठगोदाम से नैनीताल 35 कि.मी. की दूरी पर स्थित है। आगरा, लखनऊ और बरेली को काठगोदाम से सीधे रेल जाती है। नैनीताल नगर सुन्दर है परन्तु नैनीताल ज़िले के अन्तर्गत ही कुछ ऐसे नगर और स्थल हैं जिनकी विशिष्टता नैनीताल से किसी भी प्रकार से कम नहीं है।

यातायात सुविधा

  • हवाई जहाज का केन्द्र पन्त नगर है। नैनीताल से पन्त नगर की दूरी 60 किलोमीटर है। दिल्ली से यहाँ के लिए हवाई यात्रा होती रहती है।
  • नैनीताल जिले में कई स्थान ऐसै हैं, जहाँ बसों द्वारा आना-जाना रहता है। हल्द्वानी, काशीपुर, रुद्रपुर, रामनगर, किच्छा और पन्त नगर आदि नैनीताल में ऐसे उभरते हुए नगर हैं, जिनमें बसों के माध्यम से प्रतिदिन सम्पर्क बना रहता है।
  • नैनीताल नगर निरन्तर फैलता ही जा रहा है। आज यह नगर 11 - 73 वर्ग किलोमीटर में फैला हूआ है। पर्वतारोहण, पदारोहण जैसे आधुनिक आकर्षणों के कारण, यहाँ का फैलाव नित नये ढ़ंग से हो रहा है। 'कुमाऊँ' विश्वविद्यालय के मुख्यालय होने के कारण भी यहाँ नित नयी चहल - पहल होती है। नैनीताल में कई संस्थान हैं। पर्वतारोहण की संस्था भी यहाँ की एक शान है।[1]



पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. हनुमानगढ़ी (हिन्दी) www.ignca.nic.in। अभिगमन तिथि: 20 नवम्बर, 2014।

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=हनुमानगढ़ी&oldid=511455" से लिया गया