}

"अंगारिणी" के अवतरणों में अंतर  

(''''अंगारिणी''' - संज्ञा स्त्रीलिंग (संस्कृत '''अङ्ग...' के साथ नया पृष्ठ बनाया)
 
(कोई अंतर नहीं)

16:08, 16 जनवरी 2020 के समय का अवतरण

अंगारिणी - संज्ञा स्त्रीलिंग (संस्कृत अङ्गारिणी)[1]

1. अंगीठी, बोरसी, आतिशदान।
2. वह दिशा जिस पर डूबे हुए सूर्य की लाली छाई हो।
3. एक लता[2]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. हिंदी शब्दसागर, प्रथम भाग |लेखक: श्यामसुंदरदास बी. ए. |प्रकाशक: नागरी मुद्रण, वाराणसी |पृष्ठ संख्या: 09 |
  2. अन्य कोश

संबंधित लेख

"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=अंगारिणी&oldid=639361" से लिया गया