अनिल कपूर  

रिंकू बघेल (वार्ता | योगदान) द्वारा परिवर्तित 18:40, 24 जून 2017 का अवतरण

(अंतर) ← पुराना अवतरण | वर्तमान अवतरण (अंतर) | नया अवतरण → (अंतर)

अनिल कपूर विषय सूची
अनिल कपूर
अनिल कपूर
प्रसिद्ध नाम अनिल कपूर
जन्म 24 दिसम्बर, 1959
जन्म भूमि चेंबूर, मुंबई
अभिभावक पिता- सुरिंदर कपूर माता- निर्मल कपूर
पति/पत्नी सुनीता कपूर
संतान बेटी- सोनम कपूर, रिया कपूर; बेटा- हर्षवर्धन
कर्म भूमि मुम्बई
कर्म-क्षेत्र अभिनेता, निर्माता
मुख्य फ़िल्में 'मेरी जंग', 'जांबाज', 'कर्मा', 'मिस्टर इंडिया', 'तेज़ाब', 'राम लखन', 'घर हो तो ऐसा', 'बेटा'
विद्यालय ऑवर लेडी ऑफ़ परपिच्‍युल सकर हाईस्‍कूल, सेंट जेवियर कॉलेज
नागरिकता भारतीय
अन्य जानकारी अनिल कपूर अपने कॅरियर और परिवार में से हमेशा परिवार को प्राथमिकता देते हैं।
अद्यतन‎

अनिल कपूर (अंग्रेज़ी: Anil Kapoor, जन्म- 24 दिसम्बर, 1959, चेंबूर, मुम्बई) भारतीय फ़िल्‍म अभिनेता और निर्माता हैं, जो कि बाॅलीवुड और हॉलीवुड फ़िल्‍मों में अपने अभिनय और डायलॉग बोलने के अंदाज से जाने जाते हैं। उन्होंने अपने कॅरियर में बहुत सी फ़िल्में कीं। वह हर शैली की फ़िल्‍मों में काम कर चुके हैं और उन्‍हें दर्शकों से काफ़ी सराहना भी मिली है। उन्हें कई फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कार भी मिल चुके हैं।

परिचय

अनिल कपूर का जन्‍म 24 दिसम्बर, 1959 को चेंबूर, मुंबई में हुआ था। उनके पिता का नाम सुरिंदर कपूर और मां का नाम निर्मल कपूर है। उनके दो भाई हैं- बड़े भाई का नाम बोनी कपूर और छोटे भाई का नाम संजय कपूर है।[1]

शिक्षा

अनिल कपूर ने ऑवर लेडी ऑफ़ परपिच्‍युल सकर हाईस्‍कूल, चेंबूर से पढ़ाई की थी। इसके बाद उन्‍होंने सेंट जेवियर्स कॉलेज, मुंबई से पढ़ाई की।

विवाह

अनिल कपूर के विवाह से उनके परिवार वालों को कभी आपत्ति नहीं थी, लेकिन अनिल के बॉलीवुड के दोस्तों को आपत्ति थी। लेकिन दो बार शादी की तारीख़ टालने के बाद सुनीता ने भी साफ़ कर दिया कि अब आगे ऐसे नहीं चलेगा। फिर ठंडे दिमाग से सोचने के बाद अनिल ने तय कर लिया। तब 19 मई, 1984 को अनिल और सुनीता एक दूसरे के हो गए। अनिल और सुनीता के तीन बच्‍चे हैं- दो बेटियाँ- सोनम कपूर और रिया कपूर और एक बेटा- हर्षवर्धन।

कॅरियर

अनिल कपूर

अनिल कपूर ने अपने फ़िल्मी कॅरियर की शुरुआत उमेश मेहरा की फ़िल्म ‘हमारे तुम्हारे’ (1979) के साथ एक सहायक अभिनेता की भूमिका में की थी। फ़िल्म ‘हम पाँच’ (1980) और ‘शक्ति’ (1982) में कुछ मामूली भूमिकाओं के बाद उन्हें 1983 में ‘वो सात दिन’ में अपनी पहली प्रमुख भूमिका मिली, जिसमें उन्होंने एक उत्कृष्ट एवं स्वाभाविक प्रदर्शन किया। अनिल कपूर ने बाद में टॉलीवुड (दक्षिण भारतीय सिनेमा) में अभिनय करने की कोशिश की और तेलुगू फ़िल्म ‘वम्सावृक्षं’ और 'मणिरत्नम' में काम किया। उन्होंने अपने कॅरियर की पहली कन्नड़ फ़िल्म ‘पल्लवी अनुपल्लवी’ की।[1]

प्रमुख फ़िल्‍म

'मेरी जंग', 'चमेली की शादी', 'जांबाज', 'कर्मा', 'मिस्टर इंडिया', 'तेज़ाब', 'राम लखन', 'घर हो तो ऐसा', 'बेटा', '1942 ए लव स्‍टोरी', 'विरासत', 'हम आपके दिल में रहते हैं', 'ताल', 'बुलंदी', 'पुकार', 'नायक', 'वेलकम', 'रेस', 'स्‍लमडॉग मिलेनियर' जैसी फ़िल्‍मों में उन्‍होंने अपने अभिनय का जलवा बिखेरा। फ़िल्म बेटा में निभाए गए उनके किरदार ने सभी को भावनात्‍मक कर दिया था और ऐसा कहा जाने लगा था कि बेटा हो तो ऐसा व‍हीं फ़िल्‍म 'नायक' में निभाए गए उनके 1 दिन के मुख्‍यमंत्री के किरदार को खूब प्रशंसा मिली।

सम्मान और पुरस्कार

अनिल कपूर ने अपने अब तक के कॅरियर में बहुत सी हिट फ़िल्में कीं। उन्हें उन फ़िल्मों में लिए कई बार सम्मानित भी किया गया है। अनिल कपूर को प्राप्त कुछ पुरस्कार नीचे दिये गये हैं।

  1. 2001 - सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार - पुकार
  2. 2008 - स्पेशल ज्यूरी अवार्ड - गांधी माय फादर
  3. 1985 - फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता पुरस्कार - मशाल
  4. 1989 - फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार - तेज़ाब



पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. 1.0 1.1 अनिल कपूर का जीवन परिचय (हिंदी) achhigyan.com। अभिगमन तिथि: 24 जून, 2017।

संबंधित लेख

अनिल कपूर विषय सूची

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=अनिल_कपूर&oldid=596418" से लिया गया