भारतकोश के संस्थापक/संपादक के फ़ेसबुक लाइव के लिए यहाँ क्लिक करें।

"इंसाफ़ की डगर पे" के अवतरणों में अंतर  

[अनिरीक्षित अवतरण][अनिरीक्षित अवतरण]
छो (इन्साफ की डगर पर का नाम बदलकर इंसाफ़ की डगर पर कर दिया गया है)
छो (इंसाफ़ की डगर पर का नाम बदलकर इंसाफ़ की डगर पे कर दिया गया है)
 
(3 सदस्यों द्वारा किये गये बीच के 5 अवतरण नहीं दर्शाए गए)
पंक्ति 1: पंक्ति 1:
{{पुनरीक्षण}}
+
{| class="bharattable-pink" align="right"
 +
|+ संक्षिप्त परिचय
 +
|-
 +
|
 +
* फ़िल्म : गंगा जमुना
 +
* संगीतकार : [[नौशाद|नौशाद अली]]
 +
* गायक :  [[हेमंत कुमार]]
 +
* गीतकार: [[शकील बदायूँनी]]
 +
|}
 
{{Poemopen}}
 
{{Poemopen}}
 
<poem>
 
<poem>
इन्साफ की डगर पे, बच्चों दिखाओ चल के
+
इंसाफ़ की डगर पे, बच्चों दिखाओ चल के
ये देश है तुम्हारा, नेता तुम्ही हो कल के
+
ये देश है तुम्हारा, नेता तुम्हीं हो कल के
  
 
दुनिया के रंज सहना और, कुछ ना मुँह से कहना
 
दुनिया के रंज सहना और, कुछ ना मुँह से कहना
 
सच्चाईयों के बल पे, आगे को बढ़ते रहना
 
सच्चाईयों के बल पे, आगे को बढ़ते रहना
 
रख दोगे एक दिन तुम, संसार को बदल के
 
रख दोगे एक दिन तुम, संसार को बदल के
इन्साफ की डगर पे...
+
इंसाफ़ की डगर पे...
  
 
अपने हों या पराए, सब के लिए हो न्याय
 
अपने हों या पराए, सब के लिए हो न्याय
देखो कदम तुम्हारा, हरगिज़ ना डगमगाए
+
देखों क़दम तुम्हारा, हरगिज़ ना डगमगाए
 
रस्ते बड़े कठिन हैं, चलना संभल-संभल के
 
रस्ते बड़े कठिन हैं, चलना संभल-संभल के
इन्साफ की डगर पे...
+
इंसाफ़ की डगर पे...
  
 
इन्सानियत के सर पे, इज़्ज़त का ताज रखना
 
इन्सानियत के सर पे, इज़्ज़त का ताज रखना
 
तन मन की भेंट देकर, भारत की लाज रखना
 
तन मन की भेंट देकर, भारत की लाज रखना
 
जीवन नया मिलेगा, अंतिम चिता में जल के
 
जीवन नया मिलेगा, अंतिम चिता में जल के
इन्साफ की डगर पे...
+
इंसाफ़ की डगर पे...
 
</poem>
 
</poem>
 
{{Poemclose}}
 
{{Poemclose}}
  
* फिल्म : गंगा जमुना
 
* संगीतकार :
 
* स्वर :
 
* रचनाकार : शकील बदायूनी
 
  
 
 
{{लेख प्रगति|आधार=आधार1|प्रारम्भिक= |माध्यमिक= |पूर्णता= |शोध= }}
 
 
==टीका टिप्पणी और संदर्भ==
 
==टीका टिप्पणी और संदर्भ==
 
<references/>
 
<references/>
  
 
==बाहरी कड़ियाँ==
 
==बाहरी कड़ियाँ==
 
+
*[http://www.youtube.com/watch?v=3DUoUULuWNM इंसाफ़ की डगर पे (यू-ट्यूब)]
 
==संबंधित लेख==
 
==संबंधित लेख==
 
+
{{देश भक्ति गीत}}
[[Category:नया पन्ना दिसंबर-2011]]
+
[[Category:फ़िल्मी गीत]]
 
+
[[Category:देश भक्ति गीत]]
 +
[[Category:संगीत]]
 +
[[Category:संगीत कोश]]
 +
[[Category:सिनेमा]]
 +
[[Category:सिनेमा कोश]]
 
__INDEX__
 
__INDEX__
[[Category:देश_भक्ति_गीत]]
+
__NOTOC__

18:57, 2 फ़रवरी 2013 के समय का अवतरण

संक्षिप्त परिचय

इंसाफ़ की डगर पे, बच्चों दिखाओ चल के
ये देश है तुम्हारा, नेता तुम्हीं हो कल के

दुनिया के रंज सहना और, कुछ ना मुँह से कहना
सच्चाईयों के बल पे, आगे को बढ़ते रहना
रख दोगे एक दिन तुम, संसार को बदल के
इंसाफ़ की डगर पे...

अपने हों या पराए, सब के लिए हो न्याय
देखों क़दम तुम्हारा, हरगिज़ ना डगमगाए
रस्ते बड़े कठिन हैं, चलना संभल-संभल के
इंसाफ़ की डगर पे...

इन्सानियत के सर पे, इज़्ज़त का ताज रखना
तन मन की भेंट देकर, भारत की लाज रखना
जीवन नया मिलेगा, अंतिम चिता में जल के
इंसाफ़ की डगर पे...



टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=इंसाफ़_की_डगर_पे&oldid=314004" से लिया गया