भारतकोश के संस्थापक/संपादक के फ़ेसबुक लाइव के लिए यहाँ क्लिक करें।

"इंसाफ़ की डगर पे" के अवतरणों में अंतर  

[अनिरीक्षित अवतरण][अनिरीक्षित अवतरण]
छो (इंसाफ़ की डगर पर का नाम बदलकर इंसाफ़ की डगर पे कर दिया गया है)
 
(2 सदस्यों द्वारा किये गये बीच के 2 अवतरण नहीं दर्शाए गए)
पंक्ति 4: पंक्ति 4:
 
|
 
|
 
* फ़िल्म : गंगा जमुना
 
* फ़िल्म : गंगा जमुना
* संगीतकार : नौशाद अली
+
* संगीतकार : [[नौशाद|नौशाद अली]]
* गायक :  हेमंत कुमार  
+
* गायक :  [[हेमंत कुमार]]
 
* गीतकार: [[शकील बदायूँनी]]
 
* गीतकार: [[शकील बदायूँनी]]
 
|}
 
|}

18:57, 2 फ़रवरी 2013 के समय का अवतरण

संक्षिप्त परिचय

इंसाफ़ की डगर पे, बच्चों दिखाओ चल के
ये देश है तुम्हारा, नेता तुम्हीं हो कल के

दुनिया के रंज सहना और, कुछ ना मुँह से कहना
सच्चाईयों के बल पे, आगे को बढ़ते रहना
रख दोगे एक दिन तुम, संसार को बदल के
इंसाफ़ की डगर पे...

अपने हों या पराए, सब के लिए हो न्याय
देखों क़दम तुम्हारा, हरगिज़ ना डगमगाए
रस्ते बड़े कठिन हैं, चलना संभल-संभल के
इंसाफ़ की डगर पे...

इन्सानियत के सर पे, इज़्ज़त का ताज रखना
तन मन की भेंट देकर, भारत की लाज रखना
जीवन नया मिलेगा, अंतिम चिता में जल के
इंसाफ़ की डगर पे...



टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=इंसाफ़_की_डगर_पे&oldid=314004" से लिया गया