भारतकोश के संस्थापक/संपादक के फ़ेसबुक लाइव के लिए यहाँ क्लिक करें।

"ओढ़ना या बिछाना" के अवतरणों में अंतर  

[अनिरीक्षित अवतरण][अनिरीक्षित अवतरण]
(''''ओढ़ना या बिछाना''' एक प्रचलित कहावत लोकोक्ति मुहा...' के साथ नया पृष्ठ बनाया)
 
छो (Text replacement - "{{कहावत लोकोक्ति मुहावरे}}" to "{{कहावत लोकोक्ति मुहावरे}}{{कहावत लोकोक्ति मुहावरे2}}")
 
पंक्ति 10: पंक्ति 10:
 
<references/>
 
<references/>
 
==संबंधित लेख==
 
==संबंधित लेख==
{{कहावत लोकोक्ति मुहावरे}}
+
{{कहावत लोकोक्ति मुहावरे}}{{कहावत लोकोक्ति मुहावरे2}}
 
[[Category:हिन्दी मुहावरे एवं लोकोक्ति कोश]]
 
[[Category:हिन्दी मुहावरे एवं लोकोक्ति कोश]]
 
[[Category:कहावत लोकोक्ति मुहावरे]]
 
[[Category:कहावत लोकोक्ति मुहावरे]]
 
[[Category:साहित्य कोश]]
 
[[Category:साहित्य कोश]]
 
__INDEX__
 
__INDEX__

17:43, 20 अप्रॅल 2018 के समय का अवतरण

ओढ़ना या बिछाना एक प्रचलित लोकोक्ति अथवा हिन्दी मुहावरा है ।

अर्थ - किसी महत्वपूर्ण वस्तु का उपयोग तुच्छ कार्य में करना।

प्रयोग - इस आजादी को ओढूँ या बिछाऊँ।


टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

कहावत लोकोक्ति मुहावरे वर्णमाला क्रमानुसार खोजें

                              अं                                                                                              क्ष    त्र    श्र
"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=ओढ़ना_या_बिछाना&oldid=624272" से लिया गया