गोर्की  

गोर्की रूस के 'आर.एस.एफ.एस.आर.' (रशियन सोशिलिस्ट फेडेरेटेड सोविएट रिपब्लिक) की राजधानी है। 1922 ई. से इस नगर का यह नाम मक्सीम गोर्की की प्रतिष्ठा का द्योतक है।

  • यह नगर वोल्गा तथा ओका नदियों के संगम पर मास्को के उत्तर-पश्चिम में 250 मी. की दूरी पर बसा है।
  • वर्ष 1921 ई. में गोर्की नगर का प्रादुर्भाव हुआ। उस समय के कतिपय प्राचीन भवनों तथा गिरजाघरों से नगर की प्राचीनता का ज्ञान होता है।
  • यहाँ13वीं शताब्दी का बना हुआ एक क़िला प्रसिद्ध है। नगर में एक प्राचीन शाही महल भी है।
  • गोर्की नगर के बहुत बड़े गिरजाघर सुप्रसिद्ध हैं, जिनमें पादरियों की गद्दियाँ हैं।
  • नगर के आधुनिक विकास में यहाँ के उद्योग धंधों का विशेष योगदान है। रूस के इस औद्योगिक केंद्र में मशीन तथा कलपुर्जे बनाने के कारखाने प्रमुख हैं। छोटे औज़ार बनाने का काम भी विकसित पैमाने पर होता है।
  • गोर्की में एक बहुत बड़ा अंतर्राष्ट्रीय मेला 10 जुलाई से लेकर 15 सितंबर तक होता है। 1552 ई. के बाद से यह मेला एशिया तथा रूस के सामानों का बहुत बड़ा विनिमय केंद्र हो गया है।
  • 1918 ई. में गोर्की में एक विश्वविद्यालय की स्थापना हुई थी।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. गोर्की (हिन्दी) भारतखोज। अभिगमन तिथि: 20 जून, 2014।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=गोर्की&oldid=609522" से लिया गया