जनांत  

रेणु (वार्ता | योगदान) द्वारा परिवर्तित 15:01, 29 अगस्त 2011 का अवतरण

(अंतर) ← पुराना अवतरण | वर्तमान अवतरण (अंतर) | नया अवतरण → (अंतर)

शब्द संदर्भ
हिन्दी वह स्थान जहाँ मनुष्य न रहते हों, वह प्रदेश जिसकी सीमा निश्चित हो, यमराज, निर्जन स्थान, मनुष्यों का अंत या नाश करने वाला।
-व्याकरण    पुल्लिंग, विशेषण
-उदाहरण   सीता की खोज में राम कई जनांत स्थानों पर गये।
-विशेष   
-विलोम   
-पर्यायवाची    तख़लिया, निराला, रहस्य, वीराना, शून्य, सुनसान, सूना।
संस्कृत जन सामान्यत:अंत
अन्य ग्रंथ
संबंधित शब्द
संबंधित लेख

अन्य शब्दों के अर्थ के लिए देखें शब्द संदर्भ कोश

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=जनांत&oldid=211689" से लिया गया